तरबगंज थाने में सुनवाई न होने पर एसपी से किया न्याय की फरियाद

गोण्डा- उत्तर प्रदेश पुलिस ने एनकाउंटर के जरिए भले ही बदमाशों के जेहन में खौफ पैदा कर दिया हो, लेकिन जिले में खाकी का इकबाल खत्म होता नजर आ रहा है। जी हां यह मैं नहीं पुलिस रजिस्टर में दर्ज घटनाएं स्वयं बयां कर रही है। इन घटनाओं से जिले की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लग गए हैं। जिले के तरबगंज क्षेत्र के ग्राम रामलाल पुरवा की निवासिनी बुजुर्ग महिला ने दबंग युवक पर गर्भवती बेटी से अश्लील हरकत करने व उसका विरोध करने पर उसकी बेटी के साथ ही उसे व बहू को भद्दी भद्दी गालियां देकर लाठी डंडों से पीटने का आरोप लगाया है। पीड़िता के तहरीर पर जब तरबगंज पुलिस ने कोई कार्यवाही नही की तो पीड़िता ने एसपी के चौखट पर जाकर न्याय का दामन फैलाया है।
शासन प्रशासन द्वारा एक तरफ जहां महिलाओं को रक्षा करने के मिशन शक्ति चला कर जागरूक किया जा रहा है वहीं तरबगंज पुलिस इन पर हो रहे अत्याचार पर कार्यवाही न करके इनकी दुश्वारियां बढ़ा रही है। प्रकरण तरबगंज थाना क्षेत्र के ग्राम रामलाल पुरवा का है जहां की निवासिनी बुजुर्ग महिला प्रभा देवी पत्नी मनीराम का आरोप है कि दिनांक 30 नवंबर 2020 को दोपहर साढ़े तीन बजे के करीब जब उसकी 5 माह की गर्भवती बेटी कंचन खेत की तरफ जा रही थी तभी उक्त गांव का मनोज पुत्र रामनाथ गलत इरादे से उसके पीछे गया और उससे अश्लील हरकत करने लगा जिसे देख जब कंचन ने शोर मचाया तो वहां उसे बचाने जब छोटी बहू शिवकुमारी के साथ प्रभा देवी पहुंची तो मनोज इन लोगों से भी हाथपाई करते हुए भद्दी भद्दी गालियां देने लगा इसी बीच मनोज के पिता रामनाथ चाचा विश्वनाथ व बैजनाथ लाठी डंडों के साथ वहां पहुंच गए और माँ बेटी बहू को दौड़ाकर पीटना शुरू कर दिया। तीनो जान बचाकर अपने घर मे घुस गयीं मगर वहां भी जाकर दबंगों ने उन्हें जमकर पीटा, जिससे तीनों को काफी चोटें आई हैं। पीड़ित महिला ने तरबगंज थाने में जाकर तहरीर दिया मगर थानेदार के कानों पर जूँ तक न रेंगा और थाने से इन्हे यह कहकर भगा दिया कि फर्जी मामला मत लाओ, तहरीर दूसरी तरह से लिखाकर लाओ। थक हारकर पीड़िता ने एसपी के चौखट पर जाकर माथा टेका है। अब देखन तो यह है कि महिला को कहां तक न्याय मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here