संवाददाता सतीश वर्मा
गोंडा : तरबगंज रामजियावन का नाम आवास प्लस की पात्रता सूची में था। जल्द पैसा आने की बात प्रधान कह रहे थे, अब लक्ष्य कम होने की बात बताई जा रही है। मनकापुर के सियाराम भी अचानक आवास आवंटन के लक्ष्य में हुई कटौती से निराश हैं। कुछ ऐसा ही हलधरमऊ के रामशंकर के साथ भी हुआ है। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत अचानक आवास आवंटन के लक्ष्य में हुई कटौती की ये बानगी भर है। झुग्गी झोपड़ी में जिदगी गुजार रहे अकेले गोंडा जिले में आठ हजार परिवारों को योजना के लाभ से वंचित होना पड़ेगा। देवीपाटन मंडल के चारों जिलों में पहले 64591 आवास का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। अब ये लक्ष्य घटकर 63863 हो गया है। गोंडा व बलरामपुर में लक्ष्य कम हुआ और बहराइच व श्रावस्ती में बढ़ा है। लक्ष्य में हुई कटौती से ग्राम प्रधानों की टेंशन बढ़ गई है। परियोजना निदेशक डीआरडीए सेवाराम चौधरी का कहना है कि निर्धारित लक्ष्य के अनुसार आवास स्वीकृत करने के निर्देश दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here