गोण्डा संवाददाता सतीश वर्मा

गोंडा- जिले में एक ऐसा मुस्लिम परिवार है जिसके घर के दो बच्चों ने अपने पढ़ाई के दौरान एकत्रित किए गए पैसों को श्रीराम जन्मभूमि निर्माण में दानकर इस ऐतिहासिक गौरवशाली क्षण के साक्षी बनने का मन ही नहीं बनाया बल्कि ज़िद ठान ली। पिता ने अपने बच्चे व भतीजे की भावना का आदर करते हुए कहा यदि आप लोगों की इच्छा है तो आप पैसों को दान कर सकते हैं। फिर क्या पूछना था इन बच्चों ने अपने – अपने गुल्लक तोड़ पचास, पचास हजार रुपए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ व भाजपा द्वारा लगाए गए कैंप में पंहुच दानकर एक नई मिसाल पेश की।

जनपद के विकास खंड नवाबगंज के गांव कल्याणपुर निवासी सैयद हाफिज अली का इतिहास भले ही अपराध जगत से जुड़ा रहा रहा हो लेकिन अब उनके बेटे व भतीजे समाज की मुख्यधारा से जुड़कर समाज के लिए कुछ करना चाहते हैं। कक्षा आठ में पढ़ने वाले आवेश व पांच के छात्र शोएब दोनों ने श्रीराम जन्म भूमि निर्माण के लिए पचास – पचास हज़ार रुपये दानकर इस ऐतिहासिक पल की साक्षी बनने का संकल्प लिया है।

इस दान के बाबत इन बच्चों ने बताया कि वह लोग भी इस एतिहासिक क्षण का गवाह बनना चाहते हैं। श्रीराम मंदिर का निर्माण हर हिंदुस्तानी का सपना था। इस सपने को साकार करने का मौका सुप्रीम कोर्ट के द्वारा जो हिंदुस्तानियों को मिला है। उसे हर हिंदुस्तानी को आगे आकर स्वागत कर स्वीकार करना चाहिए। उन्होंने बताया कि दान धर्म से ही मनुष्य का विकास संभव होता है। सभी को इस ऐतिहासिक क्षण का आनंद उठाना चाहिए। कहा की श्रीराम मंदिर निर्माण में सहयोग की बाबत यह छोटी राशि का कोई महत्व नहीं है। हर मनुष्य के जो भी हो सके अपने शक्ति के हिसाब से दान करना चाहिए।

इस मौके पर डा.विक्रमा पांडेय सहित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ व भाजपा के कार्यकर्ता मौजूद रहे। अपने सहयोग राशि का श्रीराम मंदिर निर्माण में दान देने पर दोनों बच्चे काफी उत्साहित नजर आए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here