पूर्व चौकी प्रभारी समेत कई प्रभारी,नेताओं के दरवाजे टेक रहे मत्था।

सिंगरौली-जिले को ऊर्जा धानी के नाम से जाना जाता है। जिले में कई थाना प्रभारियों और चौकी प्रभारियों को अपने मनपसंद चौकी व थाने पर पदस्थापना के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है ।तो कहीं दक्षिणा भी चढानी पड़ती है ।सूत्रों की माने तो जयंत चौकी जिले में एक ऐसी चौकी है जिसके प्रभार के लिए कई चौकी प्रभारी चढ़ावा चढ़ाने को तैयार हो जाते हैं ।तो कई नेताओं के दरवाजे मत्था टेकते भी देखे जाते हैं।

वर्तमान चौकी प्रभारी का हुआ प्रमोशन

खबरो के माध्यम से आपको यह तो पता ही होगा कि वर्तमान में चौकी जयंत में प्रभार संभाले रामायण मिश्रा का प्रमोशन हो गया है, चौकी प्रभारी से बने थाना प्रभारी के कारण चौकी से उनका तबादला भी होना तय ही माना जा रहा ।वहीं चौकी प्रभारी रामायण मिश्रा के प्रमोशन के बाद कई चौकी प्रभारियों का मंत्री मनिस्टरो के यहां फोन से संपर्क बनाना ,तो कहीं जाकर मत्था टेकना भी शुरू हो गया है ।वहीं सूत्रों की माने तो पूर्व चौकी प्रभारी भी अपनी चौकी छोड़ जिला मुख्यालय में दौड़ लगाते दिखे तो वही इस दौड़ में कई नामी चौकी प्रभारीयो के चेहरे भी शामिल होते दिखाई दे रहे हैं

जयंत चौकी के लिए लगाई जाती है बोली :सूत्र

सूत्रों की मानें तो जिले में जयंत चौकी एक ऐसी चौकी है जिस पर आने के लिए चौकी प्रभारियों की लिस्ट लंबी होती है। जिसके बाद बकायदा चौकी की बोली लगाई जाती है ,जिसका सिक्का ज्यादा वजनदार होता है वह आकर चौकी का प्रभार संभाल लेता है

जयंत चौकी पर आने की सबकी है चाहत

सूत्रों की माने तो जयंत चौकी पर आने की कई चौकी प्रभारियों की तमन्ना है,यहां तक कि जयंत चौकी पर रह चुके पूर्व चौकी प्रभारी का भी अभी चौकी से मोहभंग नहीं हुआ ।जिसके कारण जिला मुख्यालय से लेकर नेताओं की चौखट पर मत्था टेकते देखे जा रहे ।तो वही शासन चौकी प्रभारी भी प्रयासरत लगे हुए हैं । वही कोतवाली में अटैच चौकी प्रभारी भी अपने प्रयासों में लगे हुए हैं, चौकी जयंत को लेकर बात जिले में ही समाप्त नहीं होती बल्कि जिले के बाहर रीवा सीधी से भी कई चौकी प्रभारियों ने निशाने साधे रखे हैं अब देखना यह है कि किस का सिक्का उछलता है और किस को मिलता है जयंत चौकी की कमान

अगली खबर

10 दिन के कार्यकाल वाले चौकी प्रभारी को जनता रही पुकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here