सिंगरौली एनसीएल के मिनी रतन कंपनी जयंत प्रोजेक्ट में भू माफियाओं का ग्राफ बढ़ते ही जा रहा तो वही निगाही प्रोजेक्ट भी भू माफियाओं के शिकंजे से बाहर नहीं है आए दिन निगाही प्रोजेक्ट में भी अवैध कब्जे की खबर सुर्खियां बनते जा रही ।जिसको लेकर ना तो निगाही प्रबंधक सजग दिख रहे, ना ही सुरक्षा में लगे सिक्योरिटी विभाग एनसीएल के निगाही प्रोजेक्ट में अवैध अतिक्रमणकारियों का शिकंजा कसता ही जा रहा है। निगाही नेहरू शताब्दी चिकित्सालय के सामने अवैध अतिक्रमणकारियों ने जोर शोर से निर्माण कर रखा है तो वही निर्माण जारी भी है। जिसको लेकर निगाही सुरक्षाकर्मियों पर सवाल उठ रहे हैं आखिर रोड के किनारे बन रहे मकानों पर सुरक्षाकर्मियों की कैसे नहीं पड़ रही नजर।

सुरक्षाकर्मियों के आंखों पर बंधी गुलाबी नोटों की पट्टी

सूत्रों की माने तो एनसीएल निगाही क्षेत्र में हो रहे अवैध निर्माण पर सुरक्षाकर्मियों की बकायदा नजर बनी हुई है ।लेकिन न जाने किन कारणों से अवैध अतिक्रमण कार्यों के आगे सुरक्षाकर्मी नतमस्तक है ।यहां तक कि सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि कुछ सुरक्षा विभाग में पदस्थ कर्मी गुलाबी नोटों के आगे मजबूर हो जाते हैं। और अतिक्रमण कारी अपना आशियाना बखूबी खड़ा कर लेते हैं।

फाइल फोटो

अवैध निर्माण की सूचना पर पहुंचते हैं सुरक्षाकर्मी फिर भी बन जाता है आशियाना

सूत्रों ने जानकारी देते हुए यह भी बताया कि कहीं भी प्रोजेक्ट में अवैध निर्माण की सूचना पाकर सुरक्षाकर्मी बकायदा घटनास्थल पर पहुंचते हैं दिखावा कर अवैध अतिक्रमणकारीयो से सांठगांठ बनाकर वहां से निकल जाते हैं ।सुरक्षाकर्मियों के घटनास्थल से जाते ही फिर निर्माण कार्य बकायदा चालू हो जाता है ।जिसके बाद ना तो प्रबंधक इसकी पड़ताल करते हैं और ना ही सुरक्षाकर्मी दोबारा लौट कर आते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here