राजेश सिंह

सिंगरौली -विंध्यनगर थाना अंतर्गत इन दिनों गांजे का व्यापारी काफी सुर्खियों में है आपको बता दें कि सिंगरौली पुलिस अधीक्षक द्वारा बखूबी फरमान जारी किया गया था कि अवैध कारोबारियों एवं भू माफियाओं पर कार्रवाई की जाएगी और जिले में देखने को भी मिल रहा परंतु पुलिस अधीक्षक कार्यालय से कुछ दूर स्थित विंध्यनगर थाना में पदस्थ पुलिसकर्मियों पर ना तो साहब के फरमान का कोई असर दिख रहा और ना ही अपराधियों पर शिकंजा कसते देखा जा रहा आपको बता दें कि विंध्यनगर थाना अंतर्गत एक गांजे का व्यापारी जो दिन के उजाले से लेकर रात के अंधेरे तक गांजे की पुड़िया बना कर खुलेआम बेच रहा जिससे विंध्यनगर पुलिस की कार्यशैली को लेकर चौक चौराहों पर काफी चर्चाएं देखने को मिली

गांजे के कश में बर्बाद हो रही जवानी

पैसे की लालच में गांजा व्यापारी बड़े तो बड़े नाबालिक बच्चों को भी गांजे की लत लगाने से बाज नहीं आ रहा वहीं आसपास के लोगों का कहना है कि पुलिस आकर अपना हफ्ता ले जाती है जिसके कारण यह खुलेआम गांजा बेच रहा जिसके कारण आए दिन नशे की गिरफ्त में युवा आते जा रहे हैं कुछ लोगों ने तो हमारे संवाददाता के सामने रोते हुए कहा कि साहब गाजे की कस में बच्चों की जवानी बर्बाद होती नजर आ रही

राजनीति पकड़ या है गुलाबी नोटों का खेल

हमारी टीम जब उस गांजा व्यापारी की हकीकत जानने निकले तो कुछ लोगों ने बताया कि गाजा व्यापारी की राजनीति पकड़ इतनी तेज है कि पुलिस भी कार्रवाई करने से डरती है तो वहीं कुछ लोगों ने बताया कि कुछ खाकी वाले आकर हफ्ता वसूल करते हैं हालांकि इसकी पुष्टि अभी हमारा समाचार पत्र नहीं कर रहा परंतु सवालिया निशान तो खड़ा होना लाजमी है कि आखिर पुलिस कार्रवाई करने से क्यों कतराती है

अब आप भी सोच रहे होंगे कि आखिर कौन है यह गाजा व्यापारी जिसके आगे विंध्य नगर थाने की पुलिस नतमस्तक नजर आ रही है तो खबरों के साथ बने रहें अगली खबर में हम आपको दिखाएंगे और बताएंगे कि गाजा व्यापारी का व्यापार गुलाबी नोटों के या नेता जी के कारण चल रहे सारे खेल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here