एक ही दिन में दो गंभीर वारदातों से सहम गई जनता , मंदिर में दानपात्र व महिला को बंधक बनाकर की गई डकैती

सिंगरौली : ऊर्जाधानी सिंगरौली में दिनदहाड़े लूट की दो वारदातों को अंजाम देकर अपराधियों ने पुलिस व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है । हम बात कर रहे हैं सिंगरौली जिले के विंध्य नगर थाना अंतर्गत जयंत पुलिस चौकी की , जहां पर अपराधी अपराध कर देखो निकल जाते हैं जिसके बाद पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रह जाती है तो वही पीड़ित पक्ष डरा सहमा सा है तो वही नेताओं ने बे पटरी होती कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन पर सवाल खड़ा कर दिया गौर करने वाली बात है कि कुछ घटनाओं में एक तरफ पुलिस अपनी कार्यवाही पर पीठ थपथपाने पर कुछ ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है वहीं क्षेत्र की कानून व्यवस्था बे पटरी होने का सबूत अपराधियों ने दे दिया ।

जाने पूरा मामला

विंध्य नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले जयंत पुलिस चौकी क्षेत्र की घटना है जयंत पुलिस चौकी नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड कंपनी की जयंत परियोजना है मूल रूप से कोयला खदान में काम करने वाले कर्मचारियों का क्षेत्र है घटनाक्रम की यदि बात करें तो दोपहर 4:00 बजे लगभग दो व्यक्ति जयंत परियोजना के रोज गार्डन के समीप स्थित पीड़ित महिला के घर पहुंचे जिन्होंने सिविल वर्क का हवाला देकर घर के अंदर दाखिल होने में सफल होते हैं जिसके बाद दो व्यक्तियों के द्वारा महिला को बंधक बनाकर घर में रखे नगदी जेवरात पर हाथ साफ कर वहां से निकल जाते हैं घटनाक्रम के बाद पीड़िता ने संबंधित घटनाक्रम की जानकारी अपने पति को दी जिसके बाद कार्यस्थल से रवाना होकर पीड़िता के पति घर पहुंचे एवं मामले की जानकारी पुलिस को दी ।

एक ही दिन में दूसरी घटना

मिली जानकारी के अनुसार जयंत पुलिस चौकी क्षेत्र के अंतर्गत स्थित शंकर मार्केट में स्थित हनुमान मंदिर की दानपेटी को चोरों ने निशाना बनाया और दान पेटी को तोड़कर दान पेटी की पैसे को किया पार । आस्था के मंदिर में हुई इस वारदात को लेकर आसपास के क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया तो वही मंदिर में हुई चोरी को लेकर आम जनमानस में आक्रोश भी व्याप्त है

जयंत पुलिस चौकी क्षेत्र अंतर्गत कंपनियां भी नहीं है सुरक्षित

चोरी और डकैती जैसे संगीन अपराधों का नाता यहां सिर्फ घरों और दुकानों या फिर मंदिरों तक ही सीमित नहीं है लगातार अपराधियों के हौसले इस कदर बुलंद हो चुके हैं कि बेखौफ अपराधियों के द्वारा विगत कुछ माह पूर्व में लगभग करोड़ों रुपए की सामग्री पर चोरों ने हाथ साफ कर दिया था हालांकि इस मामले पर पूरी तरह से पुलिस भी कहने से बचती दिख रही है तो वहीं दूसरी तरफ संबंधित मामले पर कंपनी प्रबंधन ने भी चुप्पी साधी हुई है कंपनी के अंदर चोरी की वारदातों पर यदि हम गौर करें तो यह कहना गलत नहीं होगा इन चोरी की वारदातों के पीछे कंपनी प्रबंधन के लोग और समाज सेवा एवं जनप्रतिनिधि का चोला और है लोगों की संलिप्तता नहीं है आपको बताते चलें कि यह पूरी घटना समानता कंपनी के अंदर हो चुकी है जिसमें की हैरान करने वाली बात है कि सुरक्षा व्यवस्था का जिम्मा संभालने वाले संविदा कार को कंपनी के द्वारा सुरक्षा के नाम पर लाखों रुपए का भुगतान प्रतिमा किया जा रहा है बावजूद इसके चोरी की घटनाओं पर अंकुश नहीं लग पा रहा

डकैती की घटना के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंपपुलिस चौकी क्षेत्र अंतर्गत बंधक बनाकर लूट की वारदात के बाद से जयंत पुलिस चौकी में पुलिस के आला अधिकारी पहुंच कर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है फिलहाल तो संबंधित मामले पर पुलिस के आला अधिकारी भी बोलने से बचते रहें

मजदूर संगठन ने घटना पर जाहिर की नाराजगी

ट्रेड यूनियन के नेता पुष्पराज सिंह ने कहा कि कुछ समय पूर्व ही जयंत परियोजना के जनरल मैनेजर को चोरियों के संबंध में कहा गया था कि परिसर में प्रवेश का एक ही द्वार बनाया जाए वहां सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं इसके साथ ही तीन शिफ्ट में सिक्योरिटी गार्ड की व्यवस्था की जाए हर आने-जाने वाले की एंट्री रजिस्टर में की जाए जिस के संबंध में जनरल मैनेजर जयंत के द्वारा कहा गया कि जेसीसी की बैठक में इसका निर्णय लिया जाएगा परंतु कई महीने बीत जाने के बाद इस पर जीएम जयंत के द्वारा अब तक कोई भी ठोस पहल नहीं की गई। इसके साथ ही ट्रेड यूनियन नेता ने कहा कि जान परिजनों का सुरक्षा विभाग कॉलोनियों की सुरक्षा को लेकर बेहद उदासीन है इसके साथ ही पुलिस पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस भी पूरी तरह से यहां उदासीन दिख रही है उन्होंने कहा कि यह प्रशासन की बहुत बड़ी चूक है जोकि इतनी बड़ी वारदात यहां हुई है अगर प्रबंधन ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो आने वाले 2 दिनों में जयंत बंद कर दिया जाएगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here