शाल श्री फल देकर स्वास्थ्य सेवकों ने किया विदा
पुराना जिला चिकित्सालय कोरोना से हुआ मुक्त,

अंतिम मरीज को स्वास्थ्य कर्मियों ने सम्मान के साथ किया विदाई

सिंगरौली । यदि हौसले बुलंद हैं तो हिमालय पर्वत भी कमजोर पड़ जायेगा। ऐसा ही कुछ एक 96 साल के बयोवृद्ध ने कर दिखाया है। उसने कोरोना को मात देकर आज अपने घर पहुंच गये। इस दौरान पुराने जिला चिकित्सालय के स्वास्थ्य सेवकों ने शाल श्रीफल व मिठाई देकर ससम्मान के साथ विदा भी किये। पुराना जिला चिकित्सालय आज से कोरोना मुक्त हो गया है। यहां एक भी मरीज ईलाजरत नहीं हैं।
जानकारी के मुताबिक रजमिलान निवासी हरी प्रसाद साहू पिता सुमेश्वर साहू उम्र 96 वर्ष कोरोना संक्रमित थे। जहां उन्हें 25 मई को पुराने जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल टीम के बेहतर देखभाल के चलते आज वे पूरी तरह से स्वस्थ्य हो गये। जहां उन्हें शालश्री फल व मिठाई देकर विदा भी किया गया। इस दौरान डॉ.पंकज सिंह, डीपीएम सुधांशु मिश्रा, डॉ.संतोष कुमार, डॉ.राजेश बैस, संविदा चिकित्सक डॉ.एचएल प्रजापति,भूपेन्द्र सिंह, स्टाफ नर्स दीप्ती शुक्ला, दीपा केवट, लैब टेक्रिशियन जावेद, प्रफुल्ल द्विवेदी, संदीप धर द्विवेदी, अखिलेश गुप्ता ने वयोवृद्ध को माला पहनाकर विदा किये। इस दौरान तालियों के गडग़ड़ाहट से पूरा अस्पताल परिसर गूंज उठा। वहीं वृद्ध हरी प्रसाद साहू ने इसका पूरा श्रेय पैरामेडिकल टीम को देते हुए उनकी आंखें खुशी से नम हो गयी। तो वहीं एक और खुशी की बात है कि पुराना जिला चिकित्सालय कोरोना से मुक्त हो गया। सभी मरीज स्वस्थ्य होकर अपने घर को विदा हो गये। मरीजों एवं उनके परिजनों ने समुचित देखभाल करने पर पैरामेडिकल टीम का धन्यवाद ज्ञापित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here