डीएम ने भ्रष्टाचार के आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने व अभियोग चलाने की दी अनुमति

करनैलगंज के दो मण्डी निरीक्षकों के खिलाफ अनुशासनिक कार्यवाही केे साथ ही जांच शुरू

गोण्डा संवाददाता सतीश वर्मा
गोंडा।भ्रष्टाचार के खिलाफ डीएम मार्कण्डेय शाही का एक्शन लगातार जारी है। डीएम ने विकासखण्ड इटियाथोक में वित्तीय अनियमतिता की शिकायत पर ग्राम पंचायत बेलभरिया के पूर्व प्रधान श्रीमती रजकला, पूर्व सचिव एवं कार्य प्रभारी ग्राम पंचायत बेलभरिया संतोष कुमार, पूर्व तकनीकी सहायक ग्राम पंचायत बेलभरिया दिनेश दत्त शुक्ल के विरूद्ध दर्ज मुकदमें के प्रकरण में आरोप पत्र दाखिल करने व अभियोग चलाए जाने की अनुमति प्रदान कर दी है।
बताते चलें कि पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय द्वारा सरकारी कर्मचारियों के विरूद्ध चार्जशीट दाखिल करने व अभियोग चलाने की अनुमति जिलाधिकारी से मांगी गई, जिस पर डीएम ने कड़ा रूख अख्तियार करते हुए तीनों सरकारी कर्मचारियों व पूर्व प्रधान के विरूद्ध चार्जशीट दाखिल करने व अभियोग चलाने की अनुमति प्रदान कर दी है। ज्ञातव्य है कि ग्राम पंचायत बेलभरिया की निवासी राजनरायन वर्मा की शिकायत पर ग्राम प्रधान सहित तीनों सरकारी कर्मचारियों के विरूद्ध कोतवाली इटियाथोक में मुदकमा दर्ज किया गया था। प्रकरण की जांच डीसी मनरेगा व डीपीआरओ द्वारा की गई थी जिसमें धोखाधड़ी किए जाने की पुुष्टि के उपरान्त दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी। जिलाधिकारी ने बताया कि सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टालेरन्स की नीति पर काम किया जा रहा है और कोई भ्रष्टाचारी बख्शा नहीं जाएगा।
इसी प्रकार करनैलगंज मण्डी परिषद के कर्मचारियों के खिलाफ भी अनुशासनिक कार्यवाही की संस्तुति शुरू कर दी गई है। बताते चलें कि मण्डी स्थल करनैलगंज में अनियमितता की शिकायत प्राप्त होने पर डीएम ने अपर जिलाधिकारी को जांच सौपकर रिपोर्ट मांगी। जिसके क्रम में एडीएम की रिपोर्ट में करनैलगंज मण्डी के मण्डी निरीक्षक राम औतार तथा मण्डी निरीक्षक हनुमान प्रकाश श्रीवास्तव की संलिप्तता पाई गई। जांच रिपोर्ट के आधार पर सम्बन्धित कर्मचारियों के विरूद्ध अनुशासनिक कार्यवाही शुरू कर दी ई तथा सचिव कृषि उत्पादन मण्डी समिति अयोध्या को जांच अधिकारी नामित कर आरोप पत्र तामील कराने वा जांच कार्यवाही पूर्ण करने के आदेश दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here