Close

फेम 2 सब्सिडी का बदला नियम, एक्स-फैक्टरी प्राइस पर मिलेगी सब्सिडी

फेम 2 सब्सिडी का बदला नियम, एक्स-फैक्टरी प्राइस पर मिलेगी सब्सिडी

Fame 2 Subsidy : भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए सरकार रैपिड एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (FAME) योजना चलाती है। इसका दूसरा चरण (FAME II) चल रहा है, जिसके तहत EV खरीदारों को सब्सिडी दी जाती है। केंद्रीय भारी उद्योग मंत्रालय ने FAME II सब्सिडी के संबंध में एक अधिसूचना जारी की है सरकार ने इलेक्ट्रिक कारों पर सब्सिडी देने के नियमों में बदलाव किया है। नई गाइडलाइंस आने से ईवी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के लिए नई चुनौती खड़ी हो गई है।

इलेक्ट्रिक वाहनों पर 31 मार्च तक सब्सिडी

भारी उद्योग मंत्रालय ने गजट जारी करते हुए स्पष्ट किया कि अब FAME 2 सब्सिडी इलेक्ट्रिक वाहनों की EX-फैक्ट्री कीमत के आधार पर मिलेगी। मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक इलेक्ट्रिक वाहन की एक्स-शोरूम कीमत के आधार पर सब्सिडी जारी नहीं की जाएगी। ये नियम इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर्स और फोर-व्हीलर्स के लिए हैं। सरकार ने इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों के लिए ये बदलाव पहले ही लागू कर दिए हैं। सरकार ने FEM 2 सब्सिडी के लिए समय सीमा भी बताई है। इलेक्ट्रिक वाहनों पर सब्सिडी केवल 31 मार्च तक या फंड खत्म होने तक ही मिलेगी।

महंगी होंगी इलेक्ट्रिक कारें?

FEM 2 सब्सिडी में बदलाव और FEM 3 की नगण्य संभावनाओं ने EV कंपनियों को नाराज कर दिया है। EX-फैक्ट्री सब्सिडी के कारण इलेक्ट्रिक कारें और अधिक महंगी होने की संभावना है। टाटा मोटर्स और महिंद्रा जैसी कंपनियां अपने इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमतें बढ़ा सकती हैं। EX-फैक्ट्री कीमत वह कीमत है जिसमें GST, मालभाड़ा, अन्य कर और डीलर का कमीशन, पंजीकरण शुल्क शामिल नहीं है जो RTO द्वारा लिया जाता है EX-शोरूम कीमत में रोड टैक्स और बीमा लागत भी शामिल नहीं है। सरकार ने FEM 2 योजना की राशि 10,000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 11,500 करोड़ रुपये कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top