Close

अदाणी फाउंडेशन के सहयोग से सिक्की कला ने खोली रोजगार की राह

SINGRAULI NEWS : माडा तहसील अंतर्गत बंधौरा स्थित महान इनर्जेन लिमिटेड के पड़ोस के गांवों में अदाणी फाउंडेशन द्वारा बिहार में नेपाल की सीमा से सटी इलाकों की लुप्त होती मनमोहक सिक्की कला को पुनर्जीवित करने की कोशिश की जा रही है। सिक्की कला से बननेवाली कलाकृतियाँ न केवल बेहद खूबसूरत होती हैं, बल्कि महिलाओं को स्वरोजगार भी उपलब्ध कराने में भी सक्षम है। इस दिशा में अदाणी फाउंडेशन द्वारा आसपास के पांच गांव की 30 महिलाओं और लड़कियों को बिहार के सिक्की आर्ट के मशहूर कलाकार दिलीप कुमार के द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

कलाकारों की जीवन शैली में बदलाव और पहचान दिलाने के लिए अदाणी फाउंडेशन परिवार ने ‘साथ बढ़ो’ कार्यक्रम का शुभारम्भ किया है,

जिसके माध्यम से भारत के हर कोने से बनाई जा रही आर्ट को पहचान एवं सम्मान देने के कार्य किया जा रहा है। मध्य प्रदेश का यह क्षेत्र सिक्की कलाकारों के लिए वरदान साबित हो रहा है। सिक्की से पारंपरिक वस्तुओ के साथ-साथ पेन बॉक्स, मोबाइल केस, खिलौने जैसी वस्तुएँ भी बनाई जाती है। इस कला का उपयोग करके सजावटी उत्पाद के साथ डलिया, डगरा, छितनी, मौनी समेत कई प्रकार के सामान को बेहतर नक्काशी के साथ तैयार किया जाता है।

सिक्की कला में घास के सुनहरे रेशों को सजावटी वस्तुओं में बुनना शामिल है। बिहार के ग्रामीण इलाकों में नदी और तालाब के किनारे यह घास उगती है। विलुप्त होने के कगार पर पहुँच चुके इस कला को मनोज प्रभाकर के नेतृत्व में बंधौरा स्थित महान इनर्जेन लिमिटेड के अदाणी फाउंडेशन की टीम के द्वारा इसे पुनर्जीवित करने का प्रयास किया गया है।

इस आर्ट की खूबसूरती एवं प्राकृतिक जुड़ाव के कारण इसकी अच्छी मांग है जो स्थानीय महिलाओं के आय के स्रोत रूप में उपयोगी हो रहा है। सिक्की कला का प्रशिक्षण ले रही महिलाऐं अब मांग के मुताबिक काम भी करने लगी हैं जिससे उनकी बुनियादी जरूरतें पूरी हो रही है। अदाणी फाउंडेशन द्वारा उनके हस्तशिल्प बेचने के लिए बाजार भी उपलब्ध करवाया जा रहा है।

यहां के बने सामान स्थानीय बाजार के अलावा राज्य के अन्य शहरों में भेजने की योजना है। जेबंधौरा स्थित महान इनर्जेन लिमिटेड के आसपास के गांवों में अदाणी फाउंडेशन द्वारा कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत स्थानीय महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने, स्वरोजगार, स्वास्थ्य और शिक्षण के लिए कई कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।

अदाणी फाउंडेशन के ‘साथ बढ़ो’ कार्यक्रम के तहत अभी तक कुल 2000 से अथिक कलाकारों को इससे जोड़ा है एवं उनको बाजार से जोड़कर करीब 22 लाख की आमदनी भी कराई गयी है।

इस विषय को लेकर 01 एवं 02 नवंबर 2023 को अहमदाबाद में अदाणी परिवार के द्वारा ‘साथ बढ़ो मेला’ का आयोजन सुनिश्चित किया गया है। इसमें 22 राज्यों से सैकड़ों कलाकार अपनी अपनी कला के साथ शामिल हो रहे हैं। मध्यप्रदेश से सिंगरौली के दो कलाकार भी इस कला को प्रदर्शित करने एवं पहचान दिलाने हेतु आमंत्रित किये गए हैं जो अपने हुनर को प्रदर्शित करेंगे।

https://udnews.net/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top