Close

करोड़ों की हेराफेरी करने वाला मास्टरमाइंड फरार सहयोगी गिरफ्तार

करोड़ों की हेराफेरी करने वाला मास्टरमाइंड फरार सहयोगी गिरफ्तार

Fraud News : उज्जैन से एक मासिक बचत संस्था से पांच साल तक एक हजार रुपये प्रति माह वसूलने मामला सामने आया है। जिसके  चेयरमैन और वाइस चेयरमैन के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था। वहीं फरार चल रहे डेढ़ करोड़ से अधिक गबन के मामले में दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए इनाम भी घोषित किया गया था। रविवार को पुलिस ने वाइस चेयरमैन को गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया है।

क्या था फर्जीवाड़ा का पूरा मामला ?

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक जीवाजीगंज थाना एसआई डीएल रावत ने बताया कि भैरूनाला क्षेत्र में अंगारेश्वर मासिक बचत योजना संस्था 2014 में खोली गई थी। इसके अध्यक्ष नरेश गुप्ता एवं उपाध्यक्ष जीतेन्द्र उपाध्याय थे। इसमें 2019 तक दो सौ से अधिक सदस्यों से प्रति माह 1000 रुपये जमा कराये गये। जब जमा पैसा लौटने की बारी पांच साल बाद आई तो वे पैसे लेकर संस्था में ताला लगाकर भाग गये। उनके खिलाफ 2020 में शिकायत दर्ज कराते हुए प्रमोद कौशल ने 1.5 करोड़ रुपये गबन करने का आरोप लगाया था। वहीं पुलिस द्वारा गिरफ्तारी के लिए चेयरमैन नरेश पर 2,000 रुपये और जितेंद्र उपाध्याय पर 5,000 रुपये का इनाम घोषित किया गया था।

फर्जीवाड़े का मास्टरमाइंड फरार सहयोगी गिरफ्तार

इस मामले में पुलिस को सूचना मिली कि 5 हजार रुपये वाला इनामी घर आया हुआ है। तभी तत्काल पुलिस टीम चैरिटेबल हॉस्पिटल के सामने सोलंकी रेस्टोरेंट के बगल वाली कॉलोनी में पहुंची और जीतेंद्र को हिरासत में ले लिया। उसके बाद उसे दोपहर में कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उसे रिमांड पर लिया गया है। जिसके शुरुआती पूछताछ में पता चला कि वह चार साल से मथुरा, वाराणसी और हरिद्वार में फरारी काट रहा था। जो कुछ दिन पहले पिता की मौत की खबर सुनकर घर वापस आया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top