Credit And Debit Cards- देश का केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड को लेकर समय-समय पर इस तरह के अपडेट लाता रहता है। क्रेडिट कार्ड-डेबिट कार्ड से बैंकों के अलावा भी बाजार में कई फिनटेक कम्पनियों द्वारा कारोबार किया जा रहा हैं। इसमें बदलाव करने का मकसद यह है की ग्राहकों को कोई भी परेशानी न हो और लोगों को सुविधाजनक तरीके से बैंकिंग सेवाएं मिल सकें। अगर आपके पास भी क्रेडिट और डेबिट कार्ड है तो आप प्रतिदिन 500 रुपये तक कमा सकते हैं। दरअसल हम आपको बता दें कि केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 2022 में 1 जुलाई से क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड जारी करने और उसके संचालन से संबंधित कुछ नियमों को अपडेट किया है।

भारतीय रिजर्व बैंक के नए नियमों का भुगतान के लिए राज्य सहकारी बैंकों और जिला केंद्रीय सहकारी समितियों को छोड़कर देश के सभी बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) को पालन करना होगा। अब क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड को लेकर बैंक आरबीआई द्वारा बनाए गए नए नियमों की खास बात यह है कि अब ग्राहकों के साथ बैंक मनमाने ढंग से व्यवहार नहीं कर पाएंगे। क्रेडिट और डेबिट कार्ड के नए नियमों के अनुसार, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ग्राहकों की अनुमति के बिना नए क्रेडिट कार्ड जारी करने या पुराने क्रेडिट कार्ड को अपग्रेड करने के लिए जारी करने वाली कंपनियों और बैंकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा, जिससे इस नियम से ग्राहकों को थोड़ी राहत मिलने वाली है।

बैंक से ग्राहकों को मिलेंगे 500 रुपये

इसी अपडेट में आरबीआई ने कहा कि अगर क्रेडिट कार्ड को बंद करने के लिए आवेदन के 7 दिनों के भीतर क्रेडिट कार्ड बंद नहीं होता है, तो बैंकों और एनबीएफसी द्वारा ग्राहकों को प्रति दिन 500 रुपये का जुर्माना देना होगा। बशर्ते कि कार्डधारकों पर कोई बकाया न हो।

बकाया वसूली पर ये कम नहीं कर सकते

कार्ड जारी करने वाली कंपनियां या उनके एजेंट के रूप में काम करने वाले तीसरे पक्ष को अब ग्राहकों को बकाया वसूली करने और डराने से रोक दिया गया है। इसके लिए कंपनियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। ऐसे में आरबीआई के अपडेट से उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिलने वाली है। जिससे आप सुविधाजनक तरीके से बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here