Singrauli: Child Welfare समिति के प्रयासों से 2 साल बाद बालक को मिला परिवार

इकलौते बेटे को पाकर मां बाप के आंखो में छलके आसू

सिंगरौली। बाल कल्याण समिति सिंगरौली के प्रयासों से आज दो वर्षो से माता पिता से बिछड़े बालक को परिवार से मिलाया गया। इकलौते बेटे को अपने बीच पाकर मां बाप के आखों से आसू छलक पड़े। गौरतलब है कि जिले के जियावन थानांतर्गत ग्राम ढोगा निवासी मोहनलाल जायसवाल का 17 वर्षीय बेटा गत दो वर्ष पूर्व परिवार से बिछड़ कर सूरजपुर छत्तीसगढ़ चला गया था। जिसकी तलाश एव खोजबीन हेतु बाल कल्याण समिति एव जिला बाल संरक्षण इकाई द्वारा सतत प्रयास किए जा रहे थे।

विगत माह बालक के छत्तीसगढ में होनें की सूचना प्राप्त हुई। जिसे बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष श्रीमती जयमाला शर्मा और समिति के सदस्यों श्रीमती आरती पाण्डेय, रामदयाल पाण्डेय, अखिलेश द्विवेदी,विनोद सिंह परिहार और जिला बाल संरक्षण इकाई द्वारा परिवार वापसी हेतु सूरजपुर बाल कल्याण समिति से संपर्क कर वापस जिले में बुलवाया गया। बाल कल्याण समिति सिंगरौली द्वारा बालक के सर्वोत्तम हितों को देखते हुए उसे आज माता पिता को सुपुर्द कर दिया गया।

दो वर्षो से बिछड़े हुए इकलौते बेटे को अपने बीच पाकर माता पिता के आखों में आसू छलक पड़े। उक्त बालक की परिवार वापसी में जिला बाल संरक्षण अधिकारी राजेश राम गुप्ता, बाल संरक्षण अधिकारी नीरज शर्मा,विधि सह परिवीक्षा अधिकारी कुमार वैभव गुप्ता का भी सराहनीय योगदान है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here