IRS Devyani Singh : संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा (UPSC Civil Service Exam) पास करना कई युवाओं का सपना होता है। सपने को साकार करने के लिए कुछ स्टूडेंट UPSC एग्जाम की तैयारी के लिए कड़ी मेहनत करने के साथ रोजाना घंटों-घंटों तक पढ़ाई करते हैं, लेकिन हर साल कुछ ही स्टूडेंट्स को इसमें सफलता मिल पाती है। आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बता रहे हैं जिसने सप्ताह में सिर्फ 2 दिन पढ़कर UPSC में 11वीं रैंक हांसिल की है।

देवयानी ने की इंजीनियरिंग BITS पिलानी से

हरियाणा की देवयानी सिंह ने चंडीगढ़ के स्कूल से 10वीं और 12वीं की पढ़ाई पूरी की और उसके बाद 2014 में बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी पिलानी के गोवा कैंपस से इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंटेशन इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर ली और डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने यूपीएससी एग्जाम की तैयारी शुरू कर दी।

देवयानी को UPSC में लगातार 3 असफलताएं

देवयानी सिंह को UPSC को पास करने के लिए कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा। उन्हें तीन बार लगातार असफल होने के बाद सफलता मिली। आपको बता दें देवयानी को 2015, 2016 और 2017 के UPSC EXAM में असफलता मिली। पहले और दूसरे प्रयास में तो देवयानी ने प्री-एग्जाम भी पास नहीं कर पाईं और उसके बाद तीसरे प्रयास में इंटरव्यू राउंड तक पहुंच गई लेकिन फाइनल लिस्ट में उनका नाम ही नहीं आया। उन्होंने लगातार तीन बार फेल होने के बाद भी हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत से तैयारी को जारी रखी।

5वें प्रयास में UPSC की 11वीं रैंक

देवयानी सिंह को 2018 में पहली बार में ही यूपीएससी एग्जाम में सफलता मिली और उन्होंने ऑल इंडिया में 222वीं रैंक हासिल की और उनका चयन सेंट्रल ऑडिट विभाग में हो गया। देवयानी सिंह ने चयन होने के बाद ट्रेनिंग शुरू करने के बावजूद भी उन्होंने यूपीएससी एग्जाम की तैयारी को जारी रखा। इसके बाद उन्होंने UPSC EXAM-2019 के एग्जाम में देवयानी ने ऑल इंडिया में 11वीं रैंक हासिल की।

हफ्ते में 2 दिन पढ़ाई कर लाई UPSC में 11वीं रैंक

सेंट्रल ऑडिट विभाग में देवयानी सिंह का 2019 में चयन के बाद उन्होंने अपनी ट्रेनिंग शुरू कर दी थी। जिसके वजह से उन्हें यूपीएससी एग्जाम की तैयारी के लिए ज्यादा समय नहीं मिल पाता था। इसलिए वो एक सप्ताह में सिर्फ 2 दिन यानी शनिवार और रविवार को ही पढ़ाई करती थीं। वह उस दौरान बिना किसी टेंशन के पढ़ाई करती थी और कभी भी ये नहीं देखती थीं कि वह कितने घंटे पढ़ाई कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here