National Pension Scheme: अगर आप भी सोच रहे हैं कि आपकी पत्नी आत्मनिर्भर बनाने में मदद किया जा सके ताकि किसी भी स्थिति में आपके घर में एक रेगुलर इनकम आना शुरु हो जाए और भविष्य में आपकी पत्नी को पैसे को लेकर किसी और पर निर्भर न रहना पड़े तो आप आज ही उनके लिए रेगुलर इनकम (Regular Income) का इंतजाम करने के बाद फायदा ले सकते हैं। इसके लिए आपको National Pension Scheme में निवेश करने की जरुरत है। आइये जानते हैं कैसे इन योजना में निवेश कर आप बड़ा फायदा लिया जा सकता है।

पत्नी के नाम पर खोलें NPS खाता

आप अपनी पत्नी के नाम पर नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) अकाउंट खोलना काफी आसान हो जाता है। NPS अकाउंट आपकी पत्नी को 60 साल की उम्र पूरी होने पर एकमुश्त रकम देना शुरु किया जाता है। साथ ही हर महीने उन्हें पेंशन के रूप में रेगुलर इनकम भी होना शुरु हो जाएगी।

इतना ही नहीं, NPS अकाउंट के साथ आप यह भी आसानी से तय कर पाएंगे कि आपकी पत्नी को हर महीने कितनी पेंशन मिलने जा रही है। इससे आपकी वाइफ 60 साल की उम्र के बाद पैसों को लेकर किसी पर भी निर्भर नहीं रहने की जरुरत होती है। आइए जानते हैं इस स्कीम के बार में विस्तार से।

निवेश करना भी होता है काफी आसान

आप नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) अकाउंट में देखा जाए तो अपनी सुविधा के अनुसार हर महीने या सालाना पैसा जमा किया जा सकता है जिसका फायदा आपको मिल जाता है। आप सिर्फ 1,000 रुपये से भी पत्नी के नाम पर NPS अकाउंट खोला जा सकता है। 60 वर्ष की उम्र में NPS अकाउंट मैच्योर होना शुरु हो जाता है। नए नियमों के तहत आप चाहें तो वाइफ की उम्र 65 साल होने तक भी NPS अकाउंट चलाया जा सकता है।

45 हजार तक होती है मासिक इनकम

उदाहरण से समझना होगा- अगर आपकी वाइफ की उम्र 30 साल हो गई है और आप उनके NPS अकाउंट में हर महीने 5000 रुपये का निवेश कर रहे हैं। अगर उन्हें निवेश पर सालाना 10 फीसदी रिटर्न मिलना शुरु हो जाता है। तो 60 साल की उम्र में उनके अकाउंट में कुल 1.12 करोड़ रुपये हो जाते हैं। उनको इसमें से लगभग 45 लाख रुपये का फायदा हो जाता है। इसके अलावा उनको हर महीने 45,000 रुपये के आसपास पेंशन मिलना शुरु हो जाएगी। सबसे खास बात कि यह पेंशन उनको आजीवन मिलती रहती है।

फंड मैनेजर किया जाता है अकाउंट मैनेजमेंट

NPS केंद्र सरकार की सोशल सिक्योरिटी स्कीम (Social Security Scheme) मानी जाती है। इस स्कीम में आप जो पैसा निवेश करते हैं उसका प्रबंधन प्रोफेशनल फंड मैनेजर किया जाताहै। केंद्र सरकार इन प्रोफेशनल फंड मैनेजर्स को इसकी जिम्मेदारी देना शुरु करती है।

ऐसे में NPS में आपका निवेश पूरी तरह से सुरक्षित हो जाता है। हालांकि, इस स्कीम के तहत आप जो पैसा निवेश करनाहोता है, उस पर रिटर्न की गारंटी नहीं रहती है। फाइनेंशियल प्लानर्स के मुताबिक, NPS ने शुरुआत के बाद से अब तक सालाना औसतन 10 से 11 फीसदी तक रिटर्न मिल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here