Mustard Oil Price भारतीय खुदरा बाजारों में इन दिनों आपके लिए एक खुशखबरी है। पेट्रोल, डीजल के दाम भले ही सातवें आसमान पर हैं, लेकिन अब सरसों तेल की कीमत में नरमी दिखाई दे रहे है। कीमत गिरने से ग्राहकों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है।

अगर आप सरसों तेल के खरीदार हैं तो फिर यह खबर आपके लिए बड़े ही काम की साबित होने जा रही है।

सरसों तेल के दाम में आज भी गिरावट दर्ज की गई है। वैश्विक बाजार में भी खाने के तेल सस्ते होते दिख रहे हैं। दाम गिरने से महंगाई से परेशान लोगों को खाने वाले तेल के मोर्चे पर राहत मिली है।खाद्य तेल बेचने वाली कंपनियों ने भी पिछले सप्ताह सरसों तेल के भाव में कटौती देखने को मिली है। विदेशी बाजारों में भी खाद्य तेलों के भाव लगभग 50 रुपये लीटर के हिसाब से कम हुए हैं।

जानिए कितना सस्ता हुआ सरसों का तेल

सप्ताह के अंत में दिल्ली के तेल तिलहन बाजार में तेजी दिखी, लेकिन सरसों तेल के रेट में बढ़ोतरी नहीं हुई। शनिवार को सरसों तेल के रेट में गिरावट देखने को मिली है। बीते सप्ताह के मुकाबले सरसों पक्की घानी का रेट 10 रुपये प्रति टिन सस्ता होकर 2,365-2,445 पर बंद हुआ।

सरसों कच्ची घानी तेल की कीमत भी 10 रुपये प्रति टिन कम होकर 2,405 – 2,510 रुपये पर बंद हुई। हालांकि, सरसों तेल दादरी के भाव में किसी भी तरह का परिवर्तन नहीं देखा गया है। 15,100 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ।

जानिए बीते सप्ताह का भाव

बीते सप्ताह की बात करें, तो सरसों पक्की घानी और कच्ची घानी तेल की कीमतें भी 30-30 रुपये घटकर क्रमश: 2,365 – 2,445 रुपये और 2,405 – 2,510 रुपये टिन (15 किलो) दर्ज की गई थी। भारत ने मई के महीने में 6,60,000 टन पाम तेल का आयात किया था।

जानकारी के लिए बता दें कि बीते सप्ताह ‘धारा’ ब्रांड के खाद्य तेल बेचने वाली सहकारी कंपनी मदर डेयरी से लेकर अडानी विल्मर तक ने सरसों तेल की कीमतों में कटौती का ऐलान किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here