Solar Pump: केंद्र और राज्य सरकार समय-समय पर कई ऐसी योजनाएं लेकर आती है जिसका मकसद देशवासियों के भविष्य को सुधारना होता है। देश में स्वच्छ ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसी के तहत सरकार ने कुसुम योजना की शुरुआत की है।

कुसुम योजना के तहत वैसे तो लाभार्थी किसानों को 60% की सब्सिडी दी जाती है लेकिन कुछ राज्य सरकारों द्वारा इसमें सब्सिडी को बढ़ाया गया है और 96% तक सब्सिडी किसानों को दी जा रही है। केंद्र सरकार की कुसुम योजना के तहत किसान फ्री में सोलर पंप लगवा सकते है। झारखंड सरकार ने राज्य के किसानों को 96% अनुदान देने का ऐलान किया है।

झारखंड सरकार ने सौर ऊर्जा के व्यापक विस्तार हेतु सौर ऊर्जा नीति 2022 लागू कर दी है जिसके तहत सौर ऊर्जा से 4000 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य 2022-23 से 2026-27 तक के लिए निर्धारित किया गया है। सरकार की इस नीति के तहत राज्य में सोलर पार्क, कैनाल टॉप, फ्लोटिंग सोलर जैसी कई योजनाओं के माध्यम से राज्य में सौर ऊर्जा का विकास किया जाएगा।

सोलर पंप के लिए बनाया जाएगा पोर्टल

राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश के बाद राज्य के किसानों को सिंचाई के वैकल्पिक साधन उपलब्ध कराने के दिशा निर्देश में एक और कदम उठाया गया है। इसके तहत किसान सोलर वाटर पंप सेट योजना हेतु वेब पोर्टल का उद्घाटन किया जाएगा। इस पोर्टल के जरिए किसानों को सोलर पंप सेट प्राप्त करने हेतु प्रारंभिक चरण में सोलर पंप के वितरण एवं अधिष्ठान संचालन एवं 5 वर्ष तक उसके रखरखाव की प्रक्रिया को सरल एवं पारदर्शी बनाने के लिए डाटा संग्रहण डेटा विश्लेषण एवं ऑनलाइन मॉनिटरिंग की जाएगी। इस पोर्टल के माध्यम से किसान ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते है।

झारखंड सरकार राज्य किसानों को ऑफ ग्रिड सोलर पंप पर 96% की सब्सिडी दे रही है। इसमें बस किसानों को लगभग 4% की राशि खुद जमा करनी है। प्रथम चरण में अब तक करीब 6,717 किसानों को सोलर पंप सेट पूरे राज्य में दिए जा चुके है। जिसमें 2020-22 तक राज्य भर में 6500 पंप सेट लगे है। सोलर पंप लगाने में झारखंड पूरे देश में पांचवें स्थान पर है। वही दूसरे चरण में राज्य सरकार ने 10,000 पंप सेट लगाने का लक्ष्य तय किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here