Labour Code: केंद्र सरकार जल्द नए श्रम कानून को लागू करने की तैयारी में लगना शुरु हो गया है। इसके लिए राज्यों की ओर से न्यू वेज कोड(New wage Code) के लिए ड्राफ्ट तैयार क। जानकारी अनुसार न्यू वेज कोड में बात की जाए तो 4 लेबर कोड (4 Labour Code) के साथ ही लागू होने जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक श्रम कानूनों (New wage Code) में कुछ बदलाव होने जा रहा है। अब इन्हें फेज मैनर यानि चरणबद्ध तरीकों से राज्यों में लागू किया होने जा रहा है जिसका फैसला राज्य खुद करना होता है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार पिछले डेढ़ साल से इसे लागू करने की तैयारी किया जा चुका है।

भारतीय मजदूर संघ के सचिव विरजेश उपाध्याय ने जानकारी दिया है कि कर्मचारियों के लिए सोशल सिक्योरिटी (Social Security) काफी अहम समझा जा रहा है। कर्मचारियों की सालाना छुट्टियां, पेंशन, EPF, टेक होम सैलरी, रिटायरमेंट (Retirement) जैसे अहम मुद्दों को ध्यान में रखा जा चुका है। नए नियमों को जल्द लागू करने की संभावना मानी जा रही है।

लेबर मिनिस्ट्री के लेबर रिफॉर्म्स सेल (Labour Reform cell) के एक अधिकारी के मुताबिक देखा जाए तो, यूनियन की तरफ से EPF और सालाना छुट्टियों में बदलाव की डिमांड रखी जा चुकी है। इसके चलते इसमें लगातार देरी होना शुरु हो गई है। यूनियन का कहना था कि अर्जित अवकाश (Earned leave) की सीमा को 240 दिन से बढ़ाकर 300 दिन किया जाना अहम होता है।

Earned leave को लेकर किया जाता है बदलाव

सबसे बड़ा बदलाव सरकारी छुट्टियों (Earned leave) को लेकर होने जा रहा है। बता दें कि अभी सरकारी महकमों में 1 साल में 30 छुट्टियां मिलने जा रही है। वहीं, डिफेंस में 1 साल में 60 छुट्टियां मिलती हैं। इन छुट्टियों को कैश कराया जाना अहम माना जा रहा है। कैरी फॉरवर्ड होने पर अभी 300 छुट्टियों को ही कैश करना होता है। लेकिन, न्यू वेज कोड के तहत इन छुट्टियों की संख्या को 300 से बढ़ाकर 450 करने की मांग की किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here