भारत में डिजिटल भुगतान बाजार में हाल के दिनों में एक गतिशील वृद्धि देखी गई है, जिसका मुख्य कारण कोविड-19 महामारी और उभरती हुई तकनीक हैं. हम में से बहुत से लोग हमारी विभिन्न जरूरतों के लिए जैसे कि किराने की खरीदारी और फ्लाइट टिकट बुक करने वगैरह के लिए UPI और PayTM जैसे भुगतान ऐप के जरिए डिजिटल पेमेंट पर निर्भर हैं. उद्योगपति आनंद महिंद्रा, जो कि अक्सर अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिए प्रेरक कंटेंट शेयर करते हैं, ने भारत में बढ़ते डिजिटल परिदृश्य के बारे में एक पोस्ट शेयर की है.

आनंद महिंद्रा ने ट्विटर पर उत्तराखंड में 10,500 फीट की ऊंचाई वाले गांव में भारत की ‘आखिरी चाय की दुकान’ पर एक इंटरनेट यूजर की पोस्ट को रीट्वीट किया है. इस दुकान पर यूपीआई का उपयोग किया जा रहा है. पोस्ट को साझा करते हुए उद्योगपति ने लिखा, “जैसा कि वे कहते हैं, एक तस्वीर एक हजार शब्दों के बराबर होती है. यह भारत के डिजिटल पेमेंट इकोसिस्टम के लुभावने दायरे और पैमाने को दिखाती है. जय हो!”

मूल पोस्ट में टेक्स्ट के साथ दो तस्वीरें भी हैं. तस्वीर में दुकानदार अपनी दुकान पर मुस्कुराते और पोज देते हुए नजर आ रहे हैं. फोटो के विवरण में बताया गया है कि यह दुकान उत्तराखंड के माना गांव में स्थित है.

आनंद महिंद्रा की पोस्ट को 4,200 से अधिक लाइक्स मिले और इसने कई इंटरनेट यूजरों का ध्यान खींचा. कई यूजरों ने देश में डिजिटल पेमेंट कनेक्टिविटी की सराहना करते हुए पोस्ट पर टिप्पणी की.

एक यूजर ने लिखा, “जीवन के तौर-तरीकों में असाधारण बदलाव. सचमुच मैं अब अपना पर्स नहीं रखता.” एक अन्य यूजर ने लिखा, “सर, यह एक क्रांति है. हमारे खर्च करने के तरीके को पूरी तरह से बदल दिया.”

एक तीसरे यूजर का कमेंट है, “सच्चे यूपीआई ने वह हासिल किया है जिसे वेब3 ने भविष्य में हासिल करने के लिए सोचा था. अंतिम मील को जोड़ने वाली विकेंद्रीकृत और लोकतांत्रिक अर्थव्यवस्था.”

एक अन्य यूजर ने कहा है कि, “@pramodkvarma यह बहुत बढ़िया है! #upi के आर्किटेक्ट होने के नाते यह वास्तव में एक गर्व का क्षण रहा है !!”  एक यूजर ने कहा, “डिजिटल इंडिया के लिए यह एक बड़ी सफलता है. हर नागरिक तक पहुंचने के लिए इसकी सराहना.”

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here