सिंगरौली जिले में कोयला कबाड़ डीजल का कारोबार आय दिन सुर्खियों में बना रहता है लेकिन इन दिनों राजनीतिक चोला ओढ़ नेताओं की होढ रेत के अवैध कारोबार में लगी हुई है सिंगरौली जिले में रेत का अवैध कारोबार जोरों पर चल रहा है जिसे ना तो जिला प्रशासन रोक पा रही है और ना ही इस पर कोई अंकुश लगाने का प्रयास कर रही है जिससे जानकारों ने साफ तौर पर बताया कि जिला प्रशासन इन नेताओं के आगे कठपुतली बनकर रह गया है जिसके कारण क्षेत्र की जनता ना तो दिन में सड़कों पर घूम सकती है और ना ही रात को घरों में चैन से सो पा रही।

रात भर फर्राटे भरते हैं ट्रैक्टर

दिनभर क्षेत्र में कारोबार कर लोग रात को चैन की नींद सोने के लिए अपने घरों में पहुंच जाते हैं परंतु इन दिनों रेत कारोबारियों के आतंक में घर में भी चैन से सोना हराम कर रखा है यह हम नहीं बल्कि क्षेत्र की जनता ही कह रही है जिले में हर गली मोहल्ले में रात को ट्रैक्टर की आवाज ना तो चैन से सोने देती है और ना ही जिला प्रशासन इन पर कोई रोक लगा रही है कुछ तो बड़े नेताओं का नाम लेकर धड़ल्ले से रेत का अवैध कारोबार कर रहे हैं तो कुछ छिटपुटीया नेता ही इन कारोबार में अपना नाम कमा रहे हैं

जिले के बड़े नेता व छुटपुटिया नेताओं के इशारे पर चल रहा रेत का अवैध कारोबार

हम आपको वीडियो के माध्यम से दिखाएंगे कि जिले में कुछ बड़े नेताओं के नाम पर बगैर टीपी के ही रेत का अवैध कारोबार किया जा रहा तो वही कुछ छिटपुटया नेता ही इन कारोबार में अपना नाम कमा रहे दिन में सफेद कुर्ता पहने सड़कों पर जनता के हित की बात करने वाले नेता रात कि अंधेरे मे ट्रैक्टरों के माध्यम से दबंगई के साथ अपने कारोबार को चार चांद लगा रहे हैं नदियों का सीना छलनी कर रेत का अवैध कारोबार करना इन नेताओं का शौक बनते जा रहा जिसके आगे पुलिस प्रशासन नतमस्तक होती दिखाई दे रही तो वही माइनिंग विभाग भी चुप्पी साधे बैठा हुआ है

रेत से जुड़ी एक और बड़ी खबर जल्द करेंगे उजागर

जिले में कितने का हुआ टेंडर अब तक कितने का कारोबार मौन क्यों बैठा है माइनिंग विभाग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here