SINGRAULI देवसर में सर चढ़कर बोल रहा भ्रष्टाचार– रमापति

–यदि भ्रष्टाचार पर जिला प्रशासन कसावट नहीं ले आता तो जल्द होगा जन आंदोलन

SINGRAULI /देवसर। वैसे तो समूचा सिंगरौली जिला ही भ्रष्टाचार की आगोश में है किंतु देवसर विकासखंड अंतर्गत भ्रष्टाचार का बोलबाला है चाहे वह तहसील कार्यालय हो या भू अर्जन शाखा या फिर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के अलावा शिक्षा विभाग इन तमाम जगहों में सिर्फ और सिर्फ अधिकारियों कर्मचारियों की मनमानी तथा लूट खसोट खुलेआम चल रहा है ।

उक्त्तआरोप है क्षेत्र के वरिष्ठ समाजसेवी रमापति शुक्ला के श्री शुक्ला ने कहा कि भू-अर्जन शाखा देवसर में रेलवे प्रभावित भू स्वामियों से मुआवजा राशि देने के नाम पर सीधे-सीधे रिश्वत की मांग की जा रही है तथा कई लोगों से वसूला भी जा चुका है इसी तरह तहसील कार्यालय के तमाम शाखाओं में वर्षों से जमे कर्मचारियों द्वारा बगैर रिश्वत के एक भी काम नहीं किए जा रहे हैं और इस रिश्वतखोरी को विभाग के जिम्मेदार खुद बढ़ावा दे रहे हैं ।

रही बात शिक्षा विभाग की तो यहां दशकों से जमे ब्लॉक शिक्षा सामन्यव्यक के के द्विवेदी विद्यालयों को दी जाने वाली कंट्रनजर्सी राशि में लाखों की कमीशन खोरी कर चुके हैं और जिनका सिर्फ एकसूत्री काम है और इनके पदस्थगी से लेकर अभी तक मे विद्यालयों में शिक्षा की गिरावट आई है फिर भी इन्हें हटाया नहीं जा सका । रही बात यहां के शासकीय उचित मूल्य की दुकानों की तो अब भी ऐसी दर्जनों उचित मूल्य की दुकानें हैं जिनके सेल्समैन महीने भर का पूरा खाद्यान्न ही ब्लेक कर दे रहे हैं

और कभी दुकान नहीं खुलती है बतौर उदाहरण मार्च-अप्रैल में छात्रों के लिए मूंग का उठाव किया गया था किंतु समुचित तौर पर किसी दुकान में छात्रों को मुंग नहीं वितरित की गई । श्री शुक्ला ने कहा कि उपरोक्त मुद्दों को लेकर जल्द ही एक जन आंदोलन किया जाएगा अन्यथा जिला प्रशासन इन भ्रष्टाचार के मुद्दों पर गौर करते हुए यथाशीघ्र कसावट ले आएं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here