सिंगरौली:मुख्य मार्ग पर जिला पंचायत वसूली पर उठ रहे सवाल।

ट्रक-ट्रेलर चालकों और जिला पंचायत वसूली कर्मियों में रोज हो रही झड़प।

मुख्य मार्ग पर जिला पंचायत वसूली अवैध तो नहीं ?

मुख्य मार्ग पर खुलेआम लाठी-डंडों से लैस कर्मी कर रहे वसूली।

सिंगरौली:शक्तिनगर। जयंत-शक्तिनगर मुख्य मार्ग पर उप्र-मप्र बॉर्डर पर दुद्धीचुआ मोड़ समीप जिला पंचायत की वसूली पर सवाल उठने लगे हैं। खदान मार्ग को छोड़कर मुख्य मार्ग पर जिला पंचायत वसूली कर रहे कर्मियों और ट्रक-ट्रेलर चालकों में आए दिन तीखी बहस देखने को मिलती है। दर्जनों की संख्या में लाठी-डंडों से लैस कर्मी सिंगरौली जिले की सीमा की तरफ से आ रहे ट्रक ट्रेलरों से जिला पंचायत पर्ची कटवाने के लिए लड़ाई पर उतारू दिखते हैं।

प्राप्त जानकारी अनुसार जिला पंचायत की वसूली अपने अधिकार क्षेत्र की कोयला खदान मार्गों पर ही लेने की निविदा कराई जाती है। परंतु ज्यादा मुनाफा के चक्कर में कुछ ठेकेदारों द्वारा नियमों को ताक पर रखकर मुख्य मार्ग पर दबंगई के साथ जिला पंचायत की वसूली कराई जाती है। जिले के शक्तिनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत दुद्धीचुआ मोड़ पर मुख्य मार्ग पर ही दर्जनों लोग जिला पंचायत की वसूली कर रहे हैं, जिस पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं।

मुख्य मार्ग पर जिला पंचायत की वसूली पर सवाल खड़े होने के बाद जिम्मेदार अधिकारी कुछ भी बोलने से बच रहे हैं और वसूली कर रहे कर्मी अपने ठेकेदार के नाम पर किसी को भी देख लेने की बात कहने से भी पीछे नहीं रहते। सीमावर्ती क्षेत्र होने के कारण दिन में कई बार स्थानीय थाना पुलिस उक्त स्थान के आसपास चक्रमण करती दिख जाती है परंतु प्रशासन की नजर उक्त जिला पंचायत वसूली पर नहीं पड़ती।

कुछ ट्रांसपोर्टरों और ट्रक चालकों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि मुख्य मार्ग पर जिला पंचायत की वसूली पूरी तरह अवैध है, नियम के तहत जिला पंचायत की वसूली संबंधित जिला के अधिकार क्षेत्र में आने वाले कोयला खदानों के मार्गो पर ही काटने की अनुमति होती है। परंतु शक्तिनगर-जयंत मुख्य मार्ग पर बेखौफ जिला पंचायत वसूली कर्मी अपने मंसूबों को मुकाम तक पहुंचा रहे हैं और प्रशासन से लेकर जनप्रतिनिधि तक अपने मुंह पर ताला व आंखों पर पट्टी बांधकर धृतराष्ट्र बने बैठे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here