Singrauli: Morwa में धूम-धाम से पूजे गये भगवान शिल्पी जगह-जगह हुए भव्य कार्यक्रम

ओबी कंपनी रामकृपाल के कैंप में पूजा के साथ हुआ भव्य भंडारे का आयोजन

SINGRAULI सिंगरौली: जिले के MORWA मोरवा एवं आसपास के क्षेत्रों में शनिवार को भगवान विश्वकर्मा की पूजा अर्चना बड़े धूमधाम से की गई। स्थानीय लोगों ने अपने वाहनों, प्रतिष्ठानों आदि में जगह जगह भगवान विश्वकर्मा की पूजा अर्चना की।

इसके साथ-साथ कई स्थानों पर पंडाल सजाकर एवं भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमाएं रखकर विधि विधान से भगवान आदि शिल्पी की पूजा अर्चना की गई। गौरतलब है की मोरवा क्षेत्र व आस-पास के कल कारखानों में कलपुर्जों का कार्य होता है। अतः इस से जुड़े लोग पूरे साल अपने कार्य को सुचारु रुप से चलाने के लिए आज के दिन भगवान विश्वकर्मा की विधि विधान से पूजा अर्चना करते हैं।

इसी के तहत NCL एनसीएल में कार्यरत ओबी कंपनियों के साथ सीएमपीडीआई परिसर, पुरानी आईटीआई कॉलोनी, एनसीएल NCL कॉलोनी एवं मेन रोड के कई मिस्त्री और टैक्सी ड्राइवरों ने अपने प्रतिष्ठानों पर भगवान विश्वकर्मा को विराजमान कर आज पूरे दिन उनकी पूजा अर्चना में लगे रहे। आज सभी कल कारखानों के कार्यस्थल में भी भगवान की पूजा-अर्चना धूमधाम से की गई। शाम को स्थानीय लोगों द्वारा आदि शिल्पी की प्रतिमाओं को देखने के लिए जगह जगह भीड़ उमड़ी रही।

रामकृपाल कैंप में पूजा के साथ हुआ भव्य भंडारे का आयोजन

NCL एनसीएल के झिनगुदह एवं दूधिचुआ परियोजना में ओवरबर्डन रिमूवल का काम कर रही रामकृपाल कंपनी के कैंपों में भी आदि शिल्पी विश्वकर्मा भगवान की पूजा अर्चना के साथ भव्य भंडारे का आयोजन किया गया। रामकृपाल के निदेशक विनय सिंह के नेतृत्व में प्रोजेक्ट मैनेजर विजय भान सिंह ने दुधीचूआ स्थित कैंप में पूजा अर्चना की तो वहीं झिनगुदह परियोजना के कैंप में प्रोजेक्ट मैनेजर रंजीत सिंह द्वारा विधि विधान से पूजा अर्चना की गई। तत्पश्चात दूधिचुआ कैंप में सामूहिक रूप से भव्य भंडारे का आयोजन किया गया,

जहां रामकृपाल कंपनी के कर्मियों समेत एनसीएल के अधिकारीगण व स्थानीय नागरिक ने भी इस भव्य भंडारे में भगवान का प्रसाद ग्रहण किया। वही मेन रोड स्थित ट्रांसपोर्ट नगर में भी भंडारे का आयोजन किया गया जहां वार्ड क्रमांक 9 के पार्षद शेखर सिंह के द्वारा भव्य भंडारे का आयोजन किया गया जहां हजारों भक्तों ने भंडारे का प्रसाद ग्रहण किया तत्पश्चात आज शाम विश्वकर्मा जी की प्रतिमा को विजुअल नदी में प्रवाहित कर कार्यक्रम का समापन किया गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here