सिंगरौली:पार्किंग व्यवस्था विहीन चल रहा बंदना अस्पताल Singrauli: Bandana Hospital running without parking system

 

बिना पार्किंग व्यवस्था के कैसे मिला भवन स्वीकृति How to get building approval without parking system

सिंगरौली: जिले के जिम्मेदार कहे जाने वाले नगर निगम को सुव्यवस्थित तरीके से शहर का विकास करना है परंतु नगर निगम में बैठे अधिकारियों एवं कर्मचारियों के द्वारा सुरक्षा व्यवस्था को दरकिनार कर भवन निर्माण की स्वीकृति प्रदान कर दी जाती है जिसका जीता जागता उदाहरण सभी के सामने है खासकर कि ऐसे भवन जिनका कमर्शियल प्रयोग होना है उनमें भी काफी अनियमितताएं देखने में नजर आ रही हैं आखिरकार जिले के जिम्मेदार कब इस बात को समझेंगे कि किसी भी कमर्शियल भवन में उचित व्यवस्था का होना कितना बेहद जरूरी है क्षेत्र के साथ ही प्रदेश के कई जिलों से ऐसी खबरें भी निकल कर सामने आए हैं

जहां पर नियमों को दरकिनार कर बनाए गए कमर्शियल भवनों से होने वाली दुर्घटनाओं में जनहानि की खबरें किसी से छुपी नहीं है सिंगरौली जिले के जिला मुख्यालय में स्थित बंदना अस्पताल की पार्किंग व्यवस्था बेहद लचर दिखाई पड़ रही है अस्पताल में आने वाले मरीजों और उनके परिजनों के द्वारा सड़क पर ही गाड़ियों को पार्क किया जाता है सड़कों के दोनों तरफ गाड़ियों के खड़े हो जाने के बाद में आवागमन भी बाधित होता है सबसे महत्वपूर्ण सवाल तो यह उठता है कि नगर निगम क्षेत्र में संचालित हो रहे वंदना अस्पताल को बिना किसी पार्किंग व्यवस्था के आखिरकार भवन स्वीकृति कैसे प्रदान कर दी गई।

आवागमन होता है बाधित

जिला मुख्यालय के कोतवाली थाना से महज कुछ मीटर की दूरी पर स्थित संचालित बंदना अस्पताल की लचर पार्किंग व्यवस्था का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि अस्पताल निर्माण कार्य के दौरान अस्पताल में पहुंचने वाले मरीजों एवं उनके परिजनों के वाहनों के लिए अस्पताल प्रबंधन की तरफ से किसी भी तरह की पार्किंग व्यवस्था नहीं की गई जिस कारण से अस्पताल पहुंचने वाले लोगों के द्वारा अस्पताल के द्वार एवं अस्पताल के उल्टे किनारे पर बहुतायत संख्या में 2 पहिया चार पहिया वाहन खड़े हो जाते हैं इन वाहनों के खड़े होने से आम रास्ता एक तरफ बाधित होता है तो वहीं दूसरी तरफ दुर्घटना की आशंका भी बनी रहती है।

निगम के जिम्मेदारों ने बंद की आंखें Corporation’s responsibilities closed their eyes

नगर पालिक निगम सिंगरौली के जिम्मेदार अधिकारियों ने जिस तरह से कमर्शियल भवन की स्वीकृति को लेकर कार्य किया है वह किसी से छुपा नहीं है एवं क्षेत्र में बंदना अस्पताल की तरह अन्य कई ऐसे कमर्शियल भवन है जहां पर पार्किंग व्यवस्था नहीं है लेकिन बेखौफ होकर ऐसे कमर्शियल भवनों में व्यापार बेरोकटोक जारी है भले ही इसकी कीमत क्षेत्र की स्थानीय जनता को चुकानी पड़े इससे जिम्मेदारों का कोई लेना देना नहीं है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here