सिंगरौली: जियावन पुलिस ने नहीं की कार्रवाई Singrauli: Jiawan police did not take action

6 महीने से लापता है नाबालिक

SINGRAULI: धर्म परिवर्तन एवं धर्मांतरण को लेकर देश की सर्वोच्च न्यायालय तक ने अपने एक अहम फैसले दिए हैं एवं कई दिशा निर्देश के बावजूद भी अब तक इस पूरे मामले पर कोई ठोस कार्रवाई होते नजर नहीं आ रही है सिंगरौली SINGRAULI जिले से भी एक ऐसा ही मामला निकल कर सामने आया है

जिसमें की नाबालिक लड़की को मुस्लिम युवक अपने साथ लेकर चला गया संबंधित मामले की शिकायत लेकर पहुंचे परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने महज गुमशुदगी की कार्रवाई तक ही सीमित रह गई है पीड़ित परिवार न्याय पाने की आस में कई बार पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर आवेदन दे चुका है परंतु पुलिस अभी भी इस पूरे मामले पर ढीला रवैया अपनाए हुए हैं।

आसान शब्दों में कहें तो लव जिहाद love jihad या जिहाद मुस्लिम पुरुषों द्वारा गैर-मुस्लिम समुदायों से जुड़ी महिलाओं को इस्लाम धर्म में परिवर्तित कराने के लिए प्रेम का ढोंग रचना है। आपने भी देश में कभी-कभार लव जिहाद के किस्से सुने होंगे, लेकिन जब से सुप्रीम कोर्ट Supreme Court ने लव जिहाद को लेकर टिप्पणी की है, तब से ये शब्द चर्चा और बहस का ज्वलंत मुद्दा बन गया है।

जानें पूरा मामला Know the whole matter

फरियादी निवासी ग्राम नोडिया बिरान थाना जियावन देवसर के रहने वाले हैं प्रार्थी ने लिखित तौर पर पुलिस को आवेदन दिया है जिसमें बताया है कि पीड़ित 10 मार्च को खुर्दा मेला करने गया था एवं रात में मेले में ही रह गया सुबह पीड़ित को घर से सूचना प्राप्त हुई थी उनकी पुत्री को कोई भगा ले गया है उस समय तक पीड़ित को स्पष्ट नहीं हो पाया था कि आखिरकार हुआ क्या है जिसके बाद संबंधित मामले की सूचना पीड़ित के द्वारा जियावन थाने को दी गई लिखित तहरीर देने के बाद भी जब कार्रवाई नहीं हुई तब पीड़ित थक हार कर सिंगरौली पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर लिखित तहरीर दी।

पुलिस अधीक्षक सहित जिला कलेक्टर से पीड़ित लगा चुका है न्याय justice की गुहार

नाबालिग पुत्री के घर से गायब होने की सूचना एवं शिकायत पत्र लेकर फरियादी पुलिस अधीक्षक कार्यालय 4 बार जा चुका है तो वहीं दो बार जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर पीड़ित के द्वारा लिखित तौर पर आवेदन दिया गया है बावजूद इन सभी आवेदनों के देवसर पुलिस के द्वारा अब तक पूरे मामले में मात्र गुमशुदगी की कायमी कर ली गई है

जबकि पीड़ित व्यक्ति के पास में उसकी पुत्री की ऐसी फोटो भी प्राप्त हुई है जिसमें कि उनकी पुत्री के द्वारा मुस्लिम लिबाज धारण किए हुए हैं एवं पीड़ित ने बताया कि आसपास के क्षेत्रों से उसे अभी पता चला कि उसकी पुत्री को मुस्लिम समुदाय की ही एक लड़की के द्वारा भगा कर ले जाया जा चुका है संबंधित मामले में देवसर पुलिस के द्वारा अभियुक्त के परिवारजनों के कथन बयान भी लिए जा चुके हैं परंतु संबंधित मामले में देवसर पुलिस सिर्फ और सिर्फ गुमशुदगी तक ही सीमित है।

सीएम हेल्पलाइन CM Helpline में शिकायत के बाद पीड़ित को पुलिस ने किया प्रताड़ित

Police harassed the victim after complaint in CM helpline

पीड़ित ने बताया कि जब वह नाबालिग बच्ची के गायब होने के संबंध में सीएम हेल्पलाइन CM Helpline में इसकी शिकायत की तो देवसर पुलिस के द्वारा उसे थाने में बुलाकर उसके साथ मारपीट की गई एवं उसे लॉक अप में बंद कर दिया गया जहां सुबह से शाम तक उसे लॉकअप में ही रखा गया था इतना ही नहीं पीड़ित ने अपनी व्यथा बताते हुए बताया कि संबंधित मामले में देवसर पुलिस के द्वारा कार्रवाई के नाम पर उसे बुलाया जाता है परंतु दिन भर उसे थाने में बैठाया जाता है एवं उसके साथ बदतमीजी की जाती है।

जियावन पुलिस को है तहरीर का इंतजार Jiawan police is waiting for Tahrir

नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर गैर हिंदू समुदाय के लड़के के द्वारा की गई इस हरकत पर कई गंभीर मामले बनते हैं कई गंभीर धाराओं में या मामला दर्ज होना चाहिए था

तो वहीं नाबालिक की गुमशुदगी के मामले में पुलिस के द्वारा सिर्फ गुमशुदगी की धारा में मामला दर्ज कर सिर्फ मामले की लीपापोती कर दी गई है जबकि इस पूरे घटनाक्रम को पुलिस के द्वारा गंभीरता से लेना चाहिए था परंतु अब तक करीब 6 महीना बीत जाने के बाद भी देवसर पुलिस ने संबंधित मामले में कार्रवाई शून्य के बराबर की है दरअसल पीड़ित ने बताया कि उनके द्वारा पुलिस को लोकेशन एवं मोबाइल नंबर तक बताया गया था

कि संबंधित नंबर से गांव के ही किसी व्यक्ति की उनकी पुत्री से बात हुई थी नंबर प्राप्त होने के बावजूद जब पुलिस ने कार्रवाई नहीं की एवं वह नंबर भी कुछ दिन बाद स्विच ऑफ आने लगा वह भी तब हुआ जब संबंधित नंबर देवसर पुलिस को दिया गया अब इस पूरे मामले में देवसर पुलिस क्या किसी तहरीर का इंतजार कर रही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here