SINGRAULI:जिले में इस वर्ष 183 लोगों ने सड़क दुर्घटना में गवाई जान

सिंगरौली : सिंगरौली जिले में वर्ष 2022 जनवरी से लेकर अब तक कुल 183 लोग सड़क दुर्घटना में अपनी जान गवा चुके हैं जिसके पीछे की वजह से सिंगरौली पुलिस दुपहिया वाहन चालकों के द्वारा हेलमेट प्रयोग न करने को बता रही है ।

यातायात व्यवस्था सड़क पर चलने वाले वाहन और वाहन चालकों की जानमाल की सुरक्षा को लेकर यातायात नियमों का पालन यातायात पुलिस और जिले की विभिन्न थाना चौकी ऊपर समय-समय पर वाहन चेकिंग अभियान लगाकर एक तरफ जहां गाड़ियों के कागजात को पुलिस के द्वारा चेक किया जाता है तो वहीं दूसरी तरफ पुलिस ऐसे लोगों पर भी अपनी पैनी नजर रखती है जोकि दुर्घटना का कारण बनते हैं ऐसे लोगों को चिन्हित कर पुलिस अपनी कार्रवाई करती है परंतु लापरवाह वाहन चालकों के कारण सड़क दुर्घटनाएं होती रहती हैं जिसका खामियाजा आमजन को जान गवा कर करना पड़ता है

तो वहीं दूसरी तरफ जिले में लगातार तेजी से बढ़ रहे कोयला परिवहन करने वाले वाहन चालकों के द्वारा भी सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में वृद्धि की बात से इनकार नहीं किया जा सकता है आपको बताते चलें कि कोयला परिवहन करने वाले ट्रकों से भी आए दिन दुर्घटनाओं की खबरें निकल के सामने आती रहती हैं

इसके पीछे भी कहीं न कहीं यातायात नियमों की अनदेखी स्पष्ट तौर पर कही जा सकती है परंतु उच्च न्यायालय के आदेश के बाद हरकत में आए भोपाल बीएचयू के अधिकारियों ने बकायदा यातायात नियमों में हेलमेट को लेकर सख्ती से पालन करवाए जाने का आदेश जारी कर दिया इसके बाद से सिंगरौली जिले सहित प्रदेश के सभी जिलों में हेलमेट अनिवार्यता को लेकर पुलिस प्रशासन सख्त रुख अपनाना शुरू कर चुका है

SINGRAULI इस वर्ष अब तक 183 लोगों ने गवाई है जान

सिंगरौली जिले में प्रतिवर्ष सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में होती वृद्धि एवं मृतकों के बढ़ते आंकड़े बेहद चिंताजनक होते जा रहे हैं आपको बताते चलें कि प्रतिवर्ष सड़क दुर्घटना में जान गवाने वाले व्यक्तियों की संख्या लगभग 300 के आसपास है तो वही इस वर्ष 183 लोग जान गवा चुके हैं इसका भी खुलासा जिला पुलिस कप्तान वीरेंद्र सिंह के द्वारा किया जा चुका है

जिसके तारतम्य में पुलिस मुख्यालय के द्वारा जारी किए गए आदेश के बाद से सिंगरौली पुलिस लगातार दो पहिया वाहन चालकों के द्वारा हेलमेट helmet ना प्रयोग करने को लेकर लगातार चालानी कार्रवाई कर रही है एवं अब चंदौली पुलिस लगातार लापरवाह वाहन चालकों के प्रति कड़ा रुख अपनाने के मूड में नजर आ रही है तो वही विगत कुछ दिनों में पुलिस के द्वारा विभिन्न थानों और चौकी क्षेत्रों में सैकड़ों लोगों के चालान तक काटे गए हैं एवं पुलिस कप्तान वीरेंद्र सिंह के द्वारा एक वीडियो बयान भी जारी किया गया है जिसमें की जिले वासियों से अपील की गई है कि दुपहिया वाहन चालक सहित वाहन पर बैठने वाले व्यक्ति भी हेलमेट धारण करें

SINGRAULI कोयला परिवहन करने में लगे वाहन यमराज से कम नही 

सिंगरौली जिले में कोयला खदानों से निकलने वाले कोयले को जिले में स्थित कंपनियों में पहुंचाने के लिए कोयला परिवहन के लिए लगाए गए लगभग हजारों ट्रक सड़क मार्ग से कोयले का परिवहन करते हैं कोयला परिवहन के लिए भी जिला प्रशासन के द्वारा बकायदा रूट निर्धारित किया जा चुका है परंतु कुछ लापरवाह वाहन चालकों के द्वारा चोरी छुपे मार्ग परिवर्तित कर कोयले का परिवहन करते हैं और घनी आबादी वाले क्षेत्रों से होकर गुजरते हैं जिससे कि सड़क हादसे भी हो चुके हैं एवं कई लोगों ने जान गवाई है

जिले में सड़क हादसे में जान गंवाने वाले लोगों की संख्या सरकारी आंकड़ों से कहीं ज्यादा है क्योंकि यह वही आंकड़े हैं जो कि सरकारी रजिस्टर में दर्ज हैं वास्तविक आंकड़े तो जांच का विषय है इन सबके बीच प्रशासन कोयला ट्रांसपोर्टरों एवं कोयला ट्रांसपोर्ट करने में लगे वाहनों पर लगा नहीं लगा सका है विगत कुछ वर्षों के पूर्व के यदि आंकड़ों पर गौर करें तो यह आंकड़े बताते हैं कि सिंगरौली जिले में सड़क हादसों की संख्या कुछ कम नहीं है

इसके साथ ही जिला चिकित्सालय में पदस्थ वरिष्ठ चिकित्सकों से भी इस मामले पर बात की गई तो उन्होंने बताया कि सड़क दुर्घटना में जान गंवाने वाले लोगों के पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम करने के उपरांत अधिकतर यह पाया गया है कि मृत व्यक्ति के द्वारा सड़क दुर्घटना के दौरान नियमों की अनदेखी की गई एवं दुर्घटना के बाद शरीर के नाजुक अंगों में चोट लगने के कारण अधिकतर लोगों की मृत्यु हुई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here