B J P की तरफ से सिंगरौली विधायक की रेस में शामिल हो सकती हैं सांसद रीती पाठक :सूत्र

MP Reeti Pathak sources may join the race of Singrauli MLA on behalf of BJP

SINGRAULI: अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सियासी पारा बढ़ता जा रहा है भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस एवं आम आदमी पार्टी सहित अन्य सभी राजनैतिक दलों में हलचल शुरू हो चुकी है भले ही विधानसभा चुनावों को होने में अभी लगभग 1 वर्ष का समय है फिर भी जिले का सियासी पारा जिस तरह से चढ़ता जा रहा है उससे तो राजनैतिक दलों में हलचल तेज होती दिखाई पड़ रही। सांसद Member of parliament हो या विधायक सभी आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर तैयारियों में जुटे दिखाई पड़ रहे हैं एक तरफ जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री चेहरे को लेकर सियासी पारा प्रदेश सहित दिल्ली की राजनीति को गर्म कर रहा है तो वह विधानसभा चुनावों में प्रत्याशियों के बीच घमासान बढ़ता जा रहा जिले के सदर विधायक की उम्र को लेकर भी कयास लगाया जा रहे हैं कि सिंगरौली सीट से चेहरा भाजपा के द्वारा बदला जा सकता है

जिसे लेकर वर्तमान विधायक MLA सहित अन्य सभी नेताओं में हड़कंप की स्थिति है तो वहीं दूसरी ओर सूत्र बताते हैं कि वर्तमान सांसद Member of parliament जी विधायक की रेस में पीछे दिखाई नहीं पड़ रहे हैं वह भी अपने किस्मत सिंगरौली विधानसभा से बतौर विधायक के रूप में आजमाने जा रहीं हैं ।विधानसभा चुनाव में भाजपा 70 साल से अधिक उम्र के नेताओं को टिकट नहीं देगी। इस तरह की बात पूर्व में भी निकल कर सामने आ चुकी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 71 साल के हो चुके हैं। साथ ही पार्टी के कई सीनियर नेता, मंत्री और विधायक इसी फार्मूले की जद में आ रहे हैं।

70 वर्ष का फॉर्मूला बिगाड़ रहा भाजपा का  BJP’s game is spoiling the 70-year formula

सरकारी नौकरियों में रिटायरमेंट की उम्र सीमा को लेकर राजनीति में भी रिटायरमेंट को लेकर कही गई बात भाजपा नेताओं के गले की फांस बनता जा रहा है अगर पार्टी अपने इस फार्मूले पर कायम रहती है तो भाजपा के कई वर्तमान विधायक को एवं सांसदों का आगामी चुनाव में सूपड़ा साफ होने वाला है

हालांकि प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से अब कुछ विधायकों के द्वारा जी अभी कहां जा चुका है कि आगामी होने वाले विधानसभा चुनावों में वह भाग नहीं लेंगे। तो वही सिंगरौली जिले के सदर विधायक राम लल्लु बैस 70 वर्ष की उम्र सीमा को पार का चुके हैं ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि आगामी विधानसभा चुनाव में सिंगरौली विधायक का नया चेहरा कोई और हो सकता है जिससे कि कई नेता विधायक MLA कि इस रेस में शामिल होने की जद्दोजहद में जुट चुके हैं।

बढ़ रही है भाजपा दल की मुश्किलें The problems of the BJP party are increasing

वर्तमान समय में सिंगरौली जिले की समस्त विधानसभा पर गौर करें तो सिंगरौली विधानसभा सहित चितरंगी एवं देवसर विधानसभा पर भाजपा की मुश्किलें बढ़ती दिखाई पड़ रही हैं वर्तमान सिंगरौली भाजपा विधायक राम लल्लु बैस 70 वर्ष की उम्र सीमा को पार कर चुके हैं ।

परंतु देवसर एवं चितरंगी विधानसभा के वर्तमान विधायक (MLA)की कार्यशैली पर भाजपा यदि चुनाव लड़ती है तो परिणाम शायद भाजपा के पक्ष में ना रहें ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि राजनीति की जानकार एवं सूत्र बताते हैं कि आगामी चुनाव में भाजपा दल की मुश्किलें सिंगरौली जिले से बढ़ने वाली है एक समय पर सिंगरौली जिले को भाजपा का गढ़ कहां जाता रहा है परंतु अब जिले में उनका चुनावों के बाद में भाजपा एवं कांग्रेस को छोड़ आम आदमी पार्टी की एंट्री के बाद अब जिले का सियासी पारा और चढ़ चुका है। सूत्र बतातें हैं कि देवसर विधानसभा के वर्तमान विधायक सुभाष रामचरित्र वर्मा को आगामी विधानसभा चुनावों में पार्टी से दरकिनार किया जा सकता है

एवं देवसर से भाजपा दल की तरफ से पूर्व विधायक राजेंद्र मेश्राम को पार्टी टिकट दे सकती है इसके साथ ही चितरंगी विधानसभा के वर्तमान विधायक अमर सिंह टेकाम पर भी पार्टी विचार कर रही है ऐसे में माना जा रहा है कि भाजपा के तीनों विधानसभा से प्रत्याशी बदले जा सकते हैं।

वर्तमान सांसद हो सकती है विधानसभा की प्रत्याशी The current MP can be the candidate of the assembly

राजनीति में रिटायरमेंट की उम्र सीमा को लेकर चल रहे कयासों में एक तरफ जहां वर्तमान विधायक राम लल्लू बैस को लेकर जिले की राजनीति गर्म हो चुकी है तो वही दूसरी तरफ सूत्र बताते हैं कि आगामी होने वाले मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों में सिंगरौली विधानसभा से विधानसभा प्रत्याशी के तौर पर वर्तमान भाजपा सांसद(Member of parliament) रीती पाठक विधायक की रेस में शामिल को सकती हैं। इसके लिए भोपाल में प्रदेश स्तर के नेताओं से संबंधित मामले में चर्चाएं शुरू हो चुकी है हालांकि वर्तमान सांसद के कार्यकाल को लेकर चलता में राष्ट्रीय राजमार्ग 39 को लेकर जनता में आक्रोश व्याप्त है सांसद अपने कार्यकाल में अक्सर इस राष्ट्रीय राजमार्ग सहित ललितपुर सिंगरोली रेलवे लाइन को लेकर सवालों के घेरे में रहतीं हैं।

इन विधायकों पर भी है असंतोष व्याप्त There is also dissatisfaction with these MLAs.

ऐसा नहीं है कि सिर्फ सांसद Member of parliament को लेकर ही जनता में असंतोष व्याप्त है बल्कि सिंगरौली जिले के चितरंगी एवं देवसर विधानसभा में भी यह बातें निकलकर सामने आने लगी है कि जनता विधायक के कार्यकाल से खफा दिखाई पड़ रही है देवसर विधानसभा के वर्तमान विधायक सुभाष रामचरित्र वर्मा की विधानसभा क्षेत्र में भी जनता में वर्तमान विधायक के कार्यों को लेकर जनता में असंतोष की बात सूत्र बताते हैं

इसके साथ ही चितरंगी विधानसभा के वर्तमान विधायक अमर सिंह के कार्यकाल में जनता ना खुश दिखाई पड़ रही है चितरंगी के सूत्र बताते हैं कि विधायक के कार्यकाल के दौरान जनता ने विधायकों से सड़क बिजली पानी को लेकर जो उम्मीदें रखी थी उन पर खरे नहीं उतरें हैं ।

आम आदमी पार्टी की विधानसभा चुनावों में वो सकती है एंट्री She may enter the Aam Aadmi Party’s assembly elections

SINGRAULI जिले की राजनीति और ज्यादा गर्म होती दिखाई पड़ रही है जिले में निकाय चुनावों में आम आदमी पार्टी का खाता खोलने एवं महापौर सीट पर कब्जा होने के बाद अब पार्टी आगामी मध्य प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों में अपनी किस्मत आजमा सकती है हालांकि आम आदमी पार्टी की तरफ से अभी यह स्पष्ट नहीं किया गया है

कि आगामी होने वाले विधानसभा चुनावों में पार्टी किस चेहरे पर दाव लगा सकती है परंतु कयास तो यही लगाए जा रहे हैं कि सिंगरौली विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी के तौर पर वर्तमान महापौर रानी अग्रवाल के नाम पर मुहर लग सकती है क्योंकि अभी पार्टी की तरफ से किसी भी प्रकार की कोई हलचल बाहर आती दिखाई नहीं पड़ रही है तो वहीं सियासी हलचल पर गौर करें तो पार्टी के पास अभी भी विधानसभा चुनावों को लेकर कोई चेहरा दिखाई नहीं पड़ रहा है ऐसे में पार्टी सदर विधायक की रेस में रानी अग्रवाल का चेहरा रखकर चुनाव लड़ सकती है तो वही दूसरी तरफ चितरंगी एवं देवसर विधानसभा में संभवत पार्टी किसी ने चेहरे को चुनाव मैदान में उतार सकती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here