विराट कोहली आईपीएल 2022 के ज्यादातर मैचों में रन बनाने के लिए तरस रहे थे। गुजरात टाइटंस के खिलाफ सीजन के 67वें मैच से पहले वह केवल एक ही अर्धशतक लगा पाए थे। लेकिन गुजरात के खिलाफ उन्होंने अर्धशतकीय पारी खेलकर फॉर्म में लौटने के संकेत दे दिए हैं। वह इस सीजन में तीन बार गोल्डन डक का शिकार हो चुके थे। लेकिन अब उन्होंने इस सीजन में 300 से ज्यादा रन बना लिए हैं

कोहली ने गुजरात के खिलाफ 54 गेंदों पर 73 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। कोहली ने इसके साथ ही आरसीबी के लिए एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। वह इस फ्रेंचाइजी के लिए 7000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। टी20 क्रिकेट में विराट के अलावा अब तक किसी भी बल्लेबाज ने किसी सिंगल फ्रेंचाइजी के लिए इतने रन नहीं बनाए हैं।

‘भारत के लिए T20 वर्ल्‍ड कप जीतना चाहता हूं’, Virat Kohli का टारगेट

कोहली की बल्लेबाजी में ये बदलाव इसलिए देखने को मिल रहा है क्योंकि हाल के समय में उन्होंने अपनी तकनीक में बदलाव किया है। टूर्नामेंट के शुरुआती मैचों में कोहली का राइट पैर अपनी जगह से नहीं हिल रहा था, लेकिन गुजरात के खिलाफ उनका फुटवर्क बेहद लाजवाब रहा। अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान कोहली का दोनों पैर स्थिर दिखा और उनका पूरा ध्यान गेंद की ओर था। शुरुआती मैचों में राइट पैर पीछे होने की वजह से कोहली के बल्ले से रन नहीं निकल पा रहे थे जबकि पिछले मैच में उनका सिर और पैर बिल्कुल स्थिर था। इससे वह आसानी से बॉल पर शॉट खेल रहे थे। अपनी बल्लेबाजी तकनीक में कुछ बदलाव करते ही कोहली को उसका फर्क दिखने लगा है और अब उनके बल्ले से रन भी निकलने लगे हैं।

मुंबई इंडियंस के सपोर्ट में उतरे विराट कोहली, स्टेडियम में बैठकर करेंगे MI की जीत दुआ!

आईपीएल की बात करें तो विराट ने 221 मैचों में 6576 रन (गुजरात टाइटन्स के खिलाफ 57 रन तक) बनाए हैं, जबकि 424 रन उनके बल्ले से चैंपियंस लीग टी20 में निकले हैं। इस तरह कुल- मिलाकर उन्होंने 7000 रन आरसीबी के लिए बना दिए हैं। वैसे भी आईपीएल के इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड विराट कोहली के ही नाम दर्ज है, जो अब तक 6500 से ज्यादा रन बना चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here