56 Year Old US Woman Viral Story: आपने कई तरह के अजीबोगरीब किस्से सुने  और देखे होंगे, जिन में से कुछ को जानने के बाद हैरानी (such incident) होती है, तो कुछ ऐसे होते हैं, जो दिल को छू जाते हैं. हाल ही में कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है. यूं तो कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (social media platforms) पर आपको सरोगेसी की कई कहानियां (several stories of surrogacy) मिल जाएंगी. आज हम आपको एक ऐसी ही कहानी के बारे में बताने जा रहे हैं, जो अमेरिका से सामने आई है.

आपने देखा या सुना होगा कि, कई बार मां और बेटी एक साथ गर्भवती हो जाती और साथ ही उनकी डिलीवरी भी होती है. ऐसी स्थिति में दो पीढ़ियां को एक साथ जन्म देते कई बार सास और बहू भी साथ बच्चे को जन्म देती है, लेकिन आज हम जो आपको अनोखी कहानी बताने जा रहे है, जिसमें एक महिला अपने ही बेटे के बच्चे की मां बन गई है या यूं कहें कि एक पोती का जन्म उसकी ही दादी की कोख से हुआ है.

यहां देखें वीडियो

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Cambria Hauck (@cambriairene)

यह बात सुनने में बेहद अजीब लग सकती है कि, एक मां जिसने अपने बच्चे को जन्म देकर उसे पाल पोस कर बड़ा किया, आज वही उसी के बच्चे की मां बन चुकी है. दरअसल, यह सच है. अमेरिका में रहने वाली 56 वर्षीय नैंसी हॉक अपनी ही पोती को जन्म देने के बाद उसकी सेरोगेसी मां बन चुकी है. अमेरिका के यूटा से सरोगेसी का एक बेहद दिलचस्प मामला सामने आया है, जहां एक मां ने सरोगेट बनकर अपने ही बेटे और बहु के बच्चे को जन्म दिया है.

अमेरिकी सप्ताहिक मैग्जीन द पीपल के अनुसार, महिला की बहू हिस्टेरेक्टॉमी (गर्भाशय के सभी या एक हिस्से को हटाने के लिए एक सर्जिकल ऑपरेशन) से गुजरने के बच्चे को जन्म देने में असमर्थ थी. अमेरिकी आउटलेट के मुताबिक, पत्नी को एक सर्जिकल ऑपरेशन हुआ था और उसको हिस्टेरेक्टामी (Hysterectomy) से गुजरना पड़ा, जिसके कारण पति-पत्नी के पास अन्य कोई विकल्प नहीं बचा था.

आउटलेट के मुताबिक, अमेरिका के उटाह में एक 56 साल की महिला नैन्सी हॉक (Nancy Hauck) ने अपने ही बेटे-बहू की पांचवी संतान को जन्म दिया. जेफ हॉक (Jeff Hauck) की 56 वर्षीय मां नैन्सी हॉक ने जब उनके और उनकी पत्नी कंब्रिया के सामने सरोगेट की जिम्मेदारी उठाने का विकल्प रखा, तो उन्होंने सरोगेसी के जरिए बेटे के बच्चे को जन्म देने का फैसला लिया. उन्होंने ये फैसला इसलिए लिया, क्योंकि उनकी बहू कैंब्रिया की हिस्टेरेक्टॉमी (गर्भाशय को हटाने वाली सर्जरी) हो चुकी थी.

हॉक (जो एक वेब डेवलपर हैं) ने पूरे अनुभव को ‘एक सुंदर क्षण’ कहा. उन्होंने कहा, ‘कितने लोग अपनी मां को जन्म देते हुए देख पाते हैं.’ द पीपल की रिपोर्ट में कहा गया है कि, नैन्सी हॉक बच्चा पैदा करने की नई भावनाओं का सामना कर रही हैं, लेकिन बच्चे को अपने साथ घर नहीं ला रही हैं. छोटी बच्ची का नाम भी हन्ना रखा गया है. हॉक ने कहा कि, उनकी मां आधी रात को उठी और एक आवाज सुनी जो कह रही थी ‘मेरा नाम हन्ना है.’

कंब्रिया ने बताया कि ‘नैन्सी नाम हन्ना से आया है. उन दोनों का अर्थ अनुग्रह है.’ रिपोर्ट के मुताबिक, यूटा टेक यूनिवर्सिटी में काम करने वाली दादी को विश्वास हो गया था कि बच्चा लड़की ही होगी.

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here