Kanika मारवाड़ी को बढ़ावा देने और इसे ग्लोबल म्यूजिक स्टेज पर पेश करने वाली भारत की इंटरनेशनल म्यूजिशियन कनिका पटवारी अपनी जड़ों से जुड़े रहने में विश्वास रखती हैं। उनका नवीनतम इलेक्ट्रिफाइंग हिट ‘दिल परदेसी’ इंडियन और ग्लोबल म्यूजिक पर अनूठी छाप छोड़ने वाला मारवाड़ी गीत है।

दिल परदेसी किसी विशेष व्यक्ति से मिलने, प्यार में पड़ने और अपने दिल के नर्वस लेकिन मीठे एहसास को बयान करने की रोमांटिक कहानी के इर्द-गिर्द घूमता है। इसका टाइटल किसी विशेष के लिए अपना दिल खो बैठने की स्वीकृति से प्रेरित है।

मारवाड़ी म्यूजिक के लिए यह एक बड़ा कदम है। अन्य रीजनल इंडियन म्यूजिक, जैसे- पंजाबी सॉन्ग्स आदि ने इंटरनेशनल स्तर पर अपने लिए एक मजबूत जगह बना रखी है। पटवारी का लक्ष्य, मारवाड़ी को भी ऐसी ही पहुँच प्रदान करना है। अपने गृहनगर की भाषा को एक बड़ा, ग्लोबल प्लेटफॉर्म देना उनके सपनों में से एक है।

पटवारी का जन्म बेल्जियम के एक मारवाड़ी परिवार में हुआ था। वे वहीं पली-बढ़ीं। हालाँकि, भारत से हमेशा से ही जुड़ी रही हैं। उनका म्यूजिक स्टाइल निश्चित रूप से वैश्विक संवेदनाओं के साथ ही साथ भारतीय संगीत के भारी प्रभाव को भी दर्शाता है।

अपने नवीनतम रिलीज़ पर टिप्पणी करते हुए, कनिका पटवारी कहती हैं, “दिल परदेसी मेरे दिल के बेहद करीब है, क्योंकि यह मारवाड़ी गीत है और जब भी मैं मारवाड़ी में गाती हूँ, तो मैं खुद को अपनी जड़ों के करीब महसूस करती हूँ। अपने समाज को इस म्यूजिक का आनंद लेते और इसे अपनाते हुए देखना अद्भुत लगता है। मुझे सीमाओं को पार करते हुए म्यूजिक देखना पसंद है और मारवाड़ी में गाना इसे करने के मेरे खास तरीकों में से एक है। मुझे उम्मीद है कि लोग इन गीतों का आनंद लेंगे।”

यह गीत पहले से ही म्यूजिक लवर्स, विशेष रूप से मिलेनियल और जेन ज़ेड मारवाड़ी आबादी के बीच ट्रेंड कर रहा है। दिल परदेसी के लिए कनिका ने म्यूजिक प्रोड्यूसर ‘वाएसोब्लू’ के साथ कोलेबरेट किया है, जिन्होंने ट्रैक में एक दिलचस्प इलेक्ट्रॉनिक आधार जोड़ा है

और म्यूजिक के एक दिलचस्प मिश्रण को जन्म दिया है। यह पहली बार नहीं है, जब पटवारी ने मारवाड़ी गीत गाया है, उनका हिट ‘रुनक झुनक’ एक मजेदार, ग्रोवी डांस नंबर था, जो इंटरनेशनल वाइब के साथ एक बेमिसाल मारवाड़ी मेलोडी के रूप में सामने आया।

‘दिल परदेसी’ कनिका पटवारी के नवीनतम ईपी धाराओं का एक हिस्सा है, जो अब उनके अपने यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध है। उनके अन्य गीतों में हिंदी में उनके द्वारा गाए गए ‘खोने दो’, ‘तारे’ और ‘बावरे’ शामिल हैं, जो ईपी का एक हिस्सा हैं।

मारवाड़ी को बढ़ावा देने और इसे ग्लोबल म्यूजिक स्टेज पर पेश करने वाली भारत की इंटरनेशनल म्यूजिशियन कनिका पटवारी अपनी जड़ों से जुड़े रहने में विश्वास रखती हैं। उनका नवीनतम इलेक्ट्रिफाइंग हिट ‘दिल परदेसी’ इंडियन और ग्लोबल म्यूजिक पर अनूठी छाप छोड़ने वाला मारवाड़ी गीत है।

दिल परदेसी किसी विशेष व्यक्ति से मिलने, प्यार में पड़ने और अपने दिल के नर्वस लेकिन मीठे एहसास को बयान करने की रोमांटिक कहानी के इर्द-गिर्द घूमता है। इसका टाइटल किसी विशेष के लिए अपना दिल खो बैठने की स्वीकृति से प्रेरित है।

मारवाड़ी म्यूजिक के लिए यह एक बड़ा कदम है। अन्य रीजनल इंडियन म्यूजिक, जैसे- पंजाबी सॉन्ग्स आदि ने इंटरनेशनल स्तर पर अपने लिए एक मजबूत जगह बना रखी है। पटवारी का लक्ष्य, मारवाड़ी को भी ऐसी ही पहुँच प्रदान करना है। अपने गृहनगर की भाषा को एक बड़ा, ग्लोबल प्लेटफॉर्म देना उनके सपनों में से एक है।

पटवारी का जन्म बेल्जियम के एक मारवाड़ी परिवार में हुआ था। वे वहीं पली-बढ़ीं। हालाँकि, भारत से हमेशा से ही जुड़ी रही हैं। उनका म्यूजिक स्टाइल निश्चित रूप से वैश्विक संवेदनाओं के साथ ही साथ भारतीय संगीत के भारी प्रभाव को भी दर्शाता है।

अपने नवीनतम रिलीज़ पर टिप्पणी करते हुए, कनिका पटवारी कहती हैं, “दिल परदेसी मेरे दिल के बेहद करीब है, क्योंकि यह मारवाड़ी गीत है और जब भी मैं मारवाड़ी में गाती हूँ, तो मैं खुद को अपनी जड़ों के करीब महसूस करती हूँ। अपने समाज को इस म्यूजिक का आनंद लेते और इसे अपनाते हुए देखना अद्भुत लगता है। मुझे सीमाओं को पार करते हुए म्यूजिक देखना पसंद है और मारवाड़ी में गाना इसे करने के मेरे खास तरीकों में से एक है। मुझे उम्मीद है कि लोग इन गीतों का आनंद लेंगे।”

यह गीत पहले से ही म्यूजिक लवर्स, विशेष रूप से मिलेनियल और जेन ज़ेड मारवाड़ी आबादी के बीच ट्रेंड कर रहा है। दिल परदेसी के लिए कनिका ने म्यूजिक प्रोड्यूसर ‘वाएसोब्लू’ के साथ कोलेबरेट किया है, जिन्होंने ट्रैक में एक दिलचस्प इलेक्ट्रॉनिक आधार जोड़ा है और म्यूजिक के एक दिलचस्प मिश्रण को जन्म दिया है। यह पहली बार नहीं है, जब पटवारी ने मारवाड़ी गीत गाया है, उनका हिट ‘रुनक झुनक’ एक मजेदार, ग्रोवी डांस नंबर था, जो इंटरनेशनल वाइब के साथ एक बेमिसाल मारवाड़ी मेलोडी के रूप में सामने आया।

‘दिल परदेसी’ कनिका पटवारी के नवीनतम ईपी धाराओं का एक हिस्सा है, जो अब उनके अपने यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध है। उनके अन्य गीतों में हिंदी में उनके द्वारा गाए गए ‘खोने दो’, ‘तारे’ और ‘बावरे’ शामिल हैं, जो ईपी का एक हिस्सा हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here