दो बार की चैम्पियन भारत ने शनिवार को यहां रोमांचक पेनल्टी शूटआउट में आस्ट्रेलिया को 5-4 से हराकर सुल्तान जोहोर कप अपने नाम किया। इस तरह भारत ने टूर्नामेंट में पांच साल के खिताबी सूखे को समाप्त किया।दो बार की चैम्पियन भारत ने शनिवार को यहां रोमांचक पेनल्टी शूटआउट में आस्ट्रेलिया को 5-4 से हराकर सुल्तान जोहोर कप अपने नाम किया।इस तरह भारत ने टूर्नामेंट में पांच साल के खिताबी सूखे को समाप्त किया।दोनों टीमें नियमित समय के बाद 1-1 की बराबरी पर थी। फिर शूटआउट हुआ जिसमें भी दोनों टीमें 3-3 की बराबरी पर पहुंच गयी। अब मैच ‘सडन डेथ’ में पहुंच गया।

विजयी टीम का फैसला करने के लिये नौ पेनल्टी शॉट की जरूरत पड़ी।आस्ट्रेलिया को पहले मौका मिला जिसने कूपर बर्न्स को उतारा लेकिन भारतीय गोलकीपर मोहित शशिकुमार ने इसका बचाव किया। भारत ने विष्णुकांत सिंह से शुरूआत की जिन्होंने आसानी से गोल कर दिया। फिर लियाम हार्ट ने शूटआउट में आस्ट्रेलिया के लिये पहला गोल दागा। इसके बाद सुदीप का शॉट वाइड चला गया। पहले दो शॉट के बाद टाईब्रेकर 1-1 रहा।मोहित ने फिर जेडन एटकिन्सन का प्रयास विफल किया और उत्तम सिंह को एक पेनल्टी स्ट्रोक मिला जिसमें शारदा नंद तिवारी ने गोल कर भारत को 2-1 से बढ़त दिलायी।

अब आस्ट्रेलिया के लिये जोशुआ ब्रुक्स उतरे, उन्होंने स्कोर 2-2 कर दिया। लेकिन बॉबी सिंह धामी भारत को बढ़त नहीं दिला पाये। आस्ट्रेलिया ने अगले प्रयास में पेनल्टी स्ट्रोक हासिल किया जिस पर जोशुआ ने अपनी टीम केा 3-2 से आगे कर दिया। भारत के लिये अंकित पाल आये जिन्होंने स्कोर 3-3 से बराबर किया। फिर मैच ‘सडन डेथ’ में पहुंच गया। ‘सडन डेथ’ में विष्णुकांत उतरे लेकिन वह चूक गये। हार्ट भी आस्ट्रेलिया के लिये गोल नहीं कर सके।उत्तम सिंह ने अगले प्रयास में भारत को 4-3 से आगे कर दिया। पर बर्न्स ने स्कोर 4-4 कर दिया।

बॉबी सिंह फिर अपने प्रयास में चूक गये और आस्ट्रेलिया के लिये ब्रुडी का शॉट भी वाइड चला गया। अब दोनों टीमों 4-4 की बराबरी पर रहीं जिससे मुकाबला नाटकीय मोड़ पर पहुंच चुका था। सुदीप ने संयम दिखाते हुए स्कोर 5-4 कर दिया जबकि जोशुआ का प्रयास विफल रहा और भारतीय खिलाड़ियों ने दौड़ कर जीत का जश्न मनाया। इससे पहले दोनों टीमों ने तेज शुरूआत की जिसमें गोलकीपर मोहित ने शुरू में ही शानदार बचाव किया। आस्ट्रेलिया ने दबदबा बनाया हुआ था लेकिन उत्तम और बॉबी ने भारत को बढ़त दिलाने के प्रयास किये। इन प्रयासों का फल भी मिला जब भारत ने सुदीप (14वें मिनट) के जरिये 1-0 की बढ़त बनायी जो पहले क्वार्टर तक कायम रही।

दूसरे क्वार्टर में भारतीय खिलाड़ियों ने बढ़त के लिये प्रयत्न जारी रखे। आस्ट्रेलियाई टीम ने भी हमले तेज कर दिये, हालांकि भारतीय डिफेंस डटा रहा। फिर जैक होलांड (29वें मिनट में) ने गोल कर अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया। इससे पहले हाफ में स्कोर 1-1 था। दूसरे हाफ में दोनों टीमों ने सतर्कता बरती लेकिन विजयी गोल नहीं कर सकी और मैच शूटआउट में पहुंच गया। उत्तम सिंह ने शूटआउट में दो बार गोल दागे जिसमें ‘सडन डेथ’ में किया गया गोल भी शामिल था। वहीं विष्णुकांत सिंह, अंकित पाल, सुदीप चिरमाको ने भी गोल किये। आस्ट्रेलिया की ओर से बर्न्स कूपर, फोस्टर ब्रोडी, ब्रुक्स जोशुआ और हार्ट लियाम ने गोल किये। भारत ने आयु ग्रुप के इस टूर्नामेंट में दो बार – 2013 और 2014 – में खिताब जीता है जबकि टीम 2012, 2015, 2018 और पिछले चरण में 2019 में चार बार दूसरे स्थान पर रही थी कोविड-19 के कारण 2020 और 2021 में टूर्नामेंट आयोजित नहीं किया गया था।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here