Indian men’s hockey team: भारत ने नये सत्र में अपना अभियान 28 अक्टूबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ 4-3 की जीत से शुरू किया जबकि उसे दूसरे मैच में स्पेन से 2-3 से हार का मुंह देखना पड़ा। रीड ने शुरूआती दो मैचों में डिफेंस में हुई चूक देखने के बाद कहा कि टीम प्रबंधन ने इस हफ्ते के अंत में होने वाले मैचों में अपने खेल को सुधारने के लिये एक रणनीति बनायी है।

भारतीय पुरूष हॉकी टीम के कोच ग्राहम रीड चाहते हैं कि शुक्रवार को यहां एफआईएच प्रो लीग के दूसरे चरण में न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले मुकाबले में उनकी टीम रक्षण की चूक में कमी लाये और साथ ही अधिक आक्रमण भी करे।भारत ने नये सत्र में अपना अभियान 28 अक्टूबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ 4-3 की जीत से शुरू किया जबकि उसे दूसरे मैच में स्पेन से 2-3 से हार का मुंह देखना पड़ा। रीड ने शुरूआती दो मैचों में डिफेंस में हुई चूक देखने के बाद कहा कि टीम प्रबंधन ने इस हफ्ते के अंत में होने वाले मैचों में अपने खेल को सुधारने के लिये एक रणनीति बनायी है।

रीड ने न्यूजीलैंड के खिलाफ मुकाबले से पहले कहा, ‘‘हम ज्यादा दबदबा बनाने की कोशिश करेंगे। हमने कई सारे मौके गंवाये थे। हालांकि मैं स्पेन के खिलाफ अपने रक्षण के तरीकों से खुश था लेकिन हमने कई अहम मौकों पर खुद को निराश किया जिससे हमने दो या तीन गलतियां की और हमें इनसे काफी नुकसान हुआ। ’’वह चाहते हैं कि खिलाड़ी टुकड़ों के बजाय पूरे मैच के दौरान उसी ऊर्जा को बनाये रखें। रीड ने कहा, ‘‘फिटनेस की बात करें तो हम इसमें काफी अच्छे हैं। हमने इस हफ्ते चुस्ती फुर्ती संबंधित कुछ अभ्यास किया है और पूरी टीम फिटनेस के स्तर में अव्वल है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन पूरे मैच के दौरान इसे बरकरार रखने में मानसिक पहलू काम करता है कि हम टुकड़ों में ही दबदबा नहीं दिखाये। इस हफ्ते हमारा ध्यान इसी पर लगा होगा। ’’कप्तान हरमनप्रीत ने कहा कि टीम ने अभ्यास सत्र के दौरान अपने कमजोर पक्षों पर काम किया है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने पिछले मैचों में अपने प्रदर्शन के आधार पर जरूरत को देखते हुए कुछ चीजों पर काम किया है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here