भारत को भी 10वें मिनट में पेनल्टी कॉनर्र मिला लेकिन जुगराज सिंह का शॉट लक्ष्य से कुछ दूर रह गया। भारत को दो मिनट बाद ही एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला और इस बार कप्तान हरमनप्रीत ने गोल करने में कोई गलती नहीं की।

कृष्ण बहादुर पाठक के शानदार प्रदर्शन से भारत ने रविवार को यहां एफआईएच प्रो लीग हॉकी मुकाबले के दूसरे मैच में स्पेन को शूट आउट में 3-1 से हराया। निर्धारित समय के बाद दोनों टीम 2-2 से बराबर थी। भारत के लिए हरमनप्रीत (12वें और 32वें मिनट) ने पेनल्टी कॉर्नर पर दो गोल दागे जबकि कप्तान मार्क मिरालेस (43वें मिनट) और पेरे अमात (55वें मिनट) ने स्पेन के लिए नियमित समय में गोल किए। दो चरण के मुकाबले के पहले मैच में भारत को स्पेन के खिलाफ 2-3 से हार का सामना करना पड़ा था। स्पेन ने शानदार शुरुआत करते हुए चौथे मिनट में ही मैच का पहला पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया लेकिन टीम इसे गोल में बदलने में नाकाम रही।

भारत को भी 10वें मिनट में पेनल्टी कॉनर्र मिला लेकिन जुगराज सिंह का शॉट लक्ष्य से कुछ दूर रह गया। भारत को दो मिनट बाद ही एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला और इस बार कप्तान हरमनप्रीत ने गोल करने में कोई गलती नहीं की। स्पेन ने दूसरे क्वार्टर में आक्रामक शुरुआत की लेकिन मनप्रीत सिंह ने विरोधी टीम के हमले को नाकाम कर दिया। सर्कल के अंदर मनप्रीत के आक्रामक टैकल के लिए 25वें मिनट में स्पेन को पेनल्टी कॉर्नर और भारतीय खिलाड़ी को हरा कार्ड मिला। रविचंद्र सिंह ने हालांकि स्पेन के गोल करने की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

भारत ने इसके बाद कई मौके बनाए लेकिन गोल करने में सफलता नहीं मिली। टीम मध्यांतर तक 1-0 से आगे थी। तीसरे क्वार्टर के दूसरे ही मिनट में भारत ने पेनल्टी कॉर्नर पर हरमनप्रीत के गोल से स्कोर 2-0 कर दिया। हरमनप्रीत पहले प्रयास में गेंद को अपने कब्जे में लेने में नाकाम रहे लेकिन राजकुमार ने गेंद को कप्तान तक पहुंचाया और उन्होंने दूसरे प्रयास में गोल कर दिया। भारतीय गोलकीपर पाठक ने तीसरे क्वार्टर में कुछ अच्छे बचाव किए। भारतीय खिलाड़ियों ने हालांकि गैरजरूरी फाउल किए जिससे उन्हें कई कार्ड मिले।

इसके बाद भारतीय डिफेंस दबाव में आ गया और मिरालेस ने पाठक के बाईं ओर से गोल दाग दिया। स्पेन को इसके बाद दो और पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन पाठक ने विरोधी टीम को सफलता हासिल नहीं करने दी। मैच खत्म होने से पांच मिनट पहले अमात ने एक और गोल दागकर स्पेन को बराबरी दिला दी। स्पेन को अंतिम मिनट में दो पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन टीम इन्हें गोल में नहीं बदल सकी जिससे मैच शूट आउट में खिंच गया। शूट आउट में हरमप्रीत, राजकुमार पाल और अभिषेक ने भारत के लिए गोल दागे जबकि पाठक ने जोकिम मेनिनी, राफेल विलालोंगा और मिरालेस के प्रयासों को नाकाम करते हुए भारत को बोनस अंक दिला दिया। स्पेन के लिए शूट आउट में एकमात्र गोल गेरार्ड क्लेप्स ने किया।
भारत चार मैच में आठ अंक के साथ प्रो लीग तालिका में शीर्ष पर चल रहा है।

 

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here