भारत के 12 मुक्केबाज फाइनल में जगह बनाने के लिए चुनौती पेश करेंगे। महिला वर्ग के सेमीफाइनल मुकाबले बुधवार से खेले जाएंगे जबकि पुरुष वर्ग के अंतिम चार के मुकाबले गुरुवार को होंगे। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन और शिव थापा बुधवार को यहां जोर्डन के अम्मान में एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगे। भारत के 12 मुक्केबाज फाइनल में जगह बनाने के लिए चुनौती पेश करेंगे। महिला वर्ग के सेमीफाइनल मुकाबले बुधवार से खेले जाएंगे जबकि पुरुष वर्ग के अंतिम चार के मुकाबले गुरुवार को होंगे। तोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता लवलीना पहली बार अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में 75 किग्रा वर्ग में चुनौती पेश कर रही हैं।

वह सेमीफाइनल में कोरिया की सियोंग सुयिओन से भिड़ेंगी। विश्व चैंपियनशिप 2022 की कांस्य पदक विजेता परवीन (63 किग्रा) को मंगोलिया की उरानबिलेग शिनेतसेतसेग से भिड़ना है जबकि प्रतियोगिता में पदार्पण कर रही प्रीति (57 किग्रा) तोक्यो ओलंपिक की स्वर्ण पदक विजेता जापान के इरी सेना के खिलाफ उतरेंगी। इसके अलावा चार अन्य भारतीय महिला मुक्केबाज अल्फिया पठान (81 किग्रा से अधिक), स्वीटी(81 किग्रा), अंकुशिता बोरो (75 किग्रा) और मीनाक्षी (52 किग्रा) भी फाइनल में जगह बनाने के लिए दावा पेश करेंगी।

प्रतियोगिता में छठा पदक सुनिश्चित करके एशियाई चैंपियनशिप के सबसे सफल मुक्केबाज बने शिव थापा (63.5 किग्रा) पुरुष वर्ग के अंतिम चार मुकाबले में एशियाई चैंपियनशिप के दो बार के पदक विजेता ताजिकिस्तान के बखोदुर उस्मोनोव से भिड़ेंगे। राष्ट्रमंडल खेलों के दो बार के कांस्य पदक विजेता मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा) 2021 विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता कजाखस्तान के सेरिक तेमिरझानोव के खिलाफ उतरेंगे। नरेंद्र (92 किग्रा से अधिक), सुमित (75 किग्रा) और गोविंद कुमार साहनी (48 किग्रा) भी सेमीफाइनल में चुनौती पेश करेंगे।

 

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here