संघीय आपराधिक अदालत में फीफा में वित्तीय कदाचार के मुकदमे में जुलाई में प्लाटिनी के साथ बरी होने के बाद से 86 वर्षीय ब्लाटर ने अपने पहले बड़े साक्षात्कार में स्विस अखबार समूह तामेडिया के साथ बात की। ब्लाटर ने कतर के बारे में कहा, ‘यह एक ऐसा देश है जो बहुत छोटा है।’

फीफा के तत्कालीन अध्यक्ष सेप ब्लाटर ने मंगलवार को फिर से निकोलस सरकोजी और मिशेल प्लाटिनी के बीच महत्वपूर्ण वोटों के लिए हुई बैठक का हवाला देते हुए कहा कि 12 साल पहले फुटबॉल विश्व कप की मेजबानी के लिए कतर को चुनना एक गलती थी।संघीय आपराधिक अदालत में फीफा में वित्तीय कदाचार के मुकदमे में जुलाई में प्लाटिनी के साथ बरी होने के बाद से 86 वर्षीय ब्लाटर ने अपने पहले बड़े साक्षात्कार में स्विस अखबार समूह तामेडिया के साथ बात की। ब्लाटर ने कतर के बारे में कहा, ‘‘यह एक ऐसा देश है जो बहुत छोटा है।’’

स्विट्जरलैंड में 1954 के टूर्नामेंट के बाद से आकार के हिसाब से कतर सबसे छोटा मेजबान। ब्लाटर ने कहा, ‘‘फुटबॉल और विश्व कप उसके लिए बहुत बड़ा है।’’ दुनिया भर की 32 टीम दोहा शहर और उसके आसपास के आठ स्टेडियमों में 64 मुकाबले खेलेंगी। विश्व कप के दौरान कतर में लगभग 12 लाख अंतरराष्ट्रीय दर्शकों के आने की उम्मीद है। विश्व कप के मुकाबले 20 नवंबर से शुरू होंगे। मेजबान देश में हालांकि रहने के लिए सीमित स्थान है। ब्लाटर ने कहा, ‘‘यह एक बुरा विकल्प था और मैं उस समय अध्यक्ष के रूप में इसके लिए जिम्मेदार था।’’ ब्लाटर ने कहा था कि उन्होंने अमेरिका के लिए मतदान दिया था। विश्व कप 2022 की मेजबानी की दौड़ में कतर ने अमेरिका की बोली को पछाड़ दिया था।

 

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here