शैंपेन, वाइन, व्हिस्की और अन्य ‘अल्कोहल’ स्टेडियम के ‘लग्जरी आतिथ्य क्षेत्रों’ में परोसे जायेंगे। इन स्थानों के बाहर बीयर एकमात्र ‘अल्कोहल’ होगा जो नियमित टिकटधारकों को बेची जायेगी। विश्व कप की बीयर प्रायोजक बडवाइजर की मूल कंपनी एबी इनबेव ने टिप्पणी के अनुरोध पर तुरंत जवाब नहीं दिया।

विश्व कप के आठ स्टेडियमों में ‘अल्कोहल’ वाली बीयर की बिक्री पर शुक्रवार को प्रतिबंध लगा दिया गया। यह फैसला फीफा टूर्नामेंट के शुरू होने से दो दिन पहले ही किया गया। ‘अल्कोहल’ मुक्त बीयर देश में होने वाले 64 मैचों में बेची जायेगी। फीफा ने एक बयान में कहा, ‘‘मेजबान देश के अधिकारियों और फीफा के बीच चर्चा के बाद स्टेडियम की परिधि से बीयर की बिक्री को हटाकर फीफा ‘फैन फेस्टिवल’, प्रशंसकों के अन्य स्थलों और लाइसेंस प्राप्त स्थलों पर ‘अल्कोहल’ वाले पेय पदार्थों की बिक्री पर ध्यान देने का फैसला किया गया। ’’

शैंपेन, वाइन, व्हिस्की और अन्य ‘अल्कोहल’ स्टेडियम के ‘लग्जरी आतिथ्य क्षेत्रों’ में परोसे जायेंगे। इन स्थानों के बाहर बीयर एकमात्र ‘अल्कोहल’ होगा जो नियमित टिकटधारकों को बेची जायेगी। विश्व कप की बीयर प्रायोजक बडवाइजर की मूल कंपनी एबी इनबेव ने टिप्पणी के अनुरोध पर तुरंत जवाब नहीं दिया। ‘एबी इनबेव’ प्रत्येक विश्व कप में बीयर बेचने के ‘एक्सक्लूसिव’ अधिकारों के लिये करोड़ों डॉलर का भुगतान करती है और प्रशंसकों के लिये काफी स्टॉक ब्रिटेन से कतर भेज चुकी है।

बडवाइजर की मूल कंपनी की फीफा से यह साझेदारी 1986 टूर्नामेंट से शुरू हुई थी और उत्तरी अमेरिका में अगले विश्व कप के लिये इसे जारी रखने के लिये बातचीत कर रही है। जब कतर ने विश्व कप की मेजबानी की बोली प्रक्रिया शुरू की थी तो देश ने फीफा के व्यावसायिक भागीदारों का सम्मान करने पर सहमति जतायी थी और ऐसा 2010 में मत जीतने के बाद अनुबंध पर हस्ताक्षर करते समय भी किया था। ब्राजील में 2014 विश्व कप में मेजबान देश को शराब की बिक्री की अनुमति के लिये एक नियम में बदलाव करने पर मजबूर होना पड़ा था।

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here