ज्योतिष शास्त्र में शुक्र व राहु की युति को शुभ नहीं माना जाता है। कहते हैं कि शुक्र व राहु जिस जातक की कुंडली के एक ही भाव में होते हैं, उसे कष्टों का सामना करना पड़ता है। जानें प्रभाव ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, राहु ने 12 अप्रैल को वृषभ राशि से निकलकर मेष राशि में गोचर कर लिया है। अब 23 मई को शुक्र भी मीन राशि से मेष राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, मेष राशि में शुक्र व राहु की युति से क्रोध योग का निर्माण होगा। जिसके चलते लड़ाई-झगड़े बढ़ेंगे। वाद-विवाद होंगे और तनाव का माहौल होगा। इन 5 राशि वालों के लिए क्रोध योग मुश्किलें खड़ी करेगा।

मेष- राहु-शुक्र की युति आपकी मुश्किलें बढ़ा सकता है। आपके स्वभाव में क्रोध की वृद्धि हो सकती है। करीबी लोगों के साथ बहस से रिश्ते खराब हो सकते हैं। पार्टनर के साथ अनबन हो सकती है। आपके रिश्ते में दरार आ सकती है।

वृषभ- राहु-शुक्र का यह अशुभ योग आपकी राशि के द्वितीय भाव में बनेगा। जिसका असर आपके रिश्तों में देखने को मिलेगा। इसके साथ ही आपकी आर्थिक स्थिति भी बिगड़ सकती है। धन का अभाव हो सकता है। खर्च बढ़ेंगे। आपकी छवि खराब हो सकती है।

सिंह- आपकी राशि के पंचम भाव में क्रोध योग बनेगा। जिसका असर आपकी लव लाइफ में पड़ेगा। पार्टनर के साथ किसी बात को लेकर अनबन हो सकती है। वाणी पर काबू रखें, वरना आपको ज्यादा नुकसान हो सकता है।

तुला- आपकी राशि के सप्तम भाव में क्रोध योग का निर्माण होगा। जिसका आपके दापंत्य जीवन पर प्रभाव पड़ेगा। शादीशुदा लोगों की मुश्किलें बढ़ेंगी। रिश्ते में तनाव हो सकता है। आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है।

कुंभ- राहु-शुक्र की युति आपके एकादश भाव में क्रोध योग बनाएगी। इस दौरान आपकी इच्छाएं बढ़ सकती हैं। काम से मन उचट सकता है। जीवन में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। रिश्तेदारों के साथ अनबन हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here