आज जारी यूपीएससी के नतीजे में धमतरी के प्रखर चंद्राकर ने 102वां स्थान हासिल किया है। कैटेगरी के हिसाब से उनका आईएएस होना तय है। प्रखर के पिता ओमप्रकाश चंद्राकर पहले धमतरी कलेक्टर कार्यालय में रीडर हुआ करते थे।

उन्हें पिछले साल पदोन्नत हुआ और पर्यवेक्षक बने। उनकी माता छात्रा चंपा चंद्राकर धमतरी जिले के धमतरी प्रखंड के हटकेसर मिडिल स्कूल के प्रधान पाठक के पद पर पदस्थ थी ।

प्रखर का छोटा भाई बीएड का छात्र है। प्रखर धमतरी ने मॉडल स्कूल से स्कूल तक पढ़ाई की। फिर Raipur से एनआईटी कालेज से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग से बी.टेक किया। तब वे दो साल तक एनटीपीसी में रहा।

इंजीनियर का पद संभाल रहे हैं। उन्हें मध्य प्रदेश में तैनात किया गया है। इस दौरान उन्होंने यूपीएससी की तयारी के लिए छुट्टी ली थी। वह तैयारी के लिए दिल्ली भी गए थे। इस समय वे रेलवे के लिए चुने गए थे। वह वर्तमान में उड़ीसा के संबलपुर में रेलवे में सहायक अभियंता के रूप में कार्यरत हैं।

यह 26 वर्षीय प्रखर का ये दूसरा प्रयास था। वे मैंस में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विषयों को चुना गया था। प्रखर का रैंक 102 है सामान्य वर्ग में 72 आईएएस कर्मी वहीं इस साल ओबीसी में 49 वैकेंसी हैं। इसलिए आईएएस बनना सुनिश्चित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here