Free Seeds for kharif crops Scheme: जानकारी के लिए आपको बता दे की राजस्थान सरकार ने 25 किसानों को नि:शुल्क बीज मिनीकिट्स वितरण के निर्देश जारी किये है. यदि आप भी इस स्कीम का लाभ उठाना चाहते है और फ्री में खरीफ फसलों जिनमें संकर बाजरा , संकर मक्का, मूंग , उड़द , मोठ और सोयाबीन के बीज लेना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़े..

निशुल्क बीज मिनी किट वितरण योजना

राजस्थान सरकार किसानों को खरीफ फसलों के लिए निशुल्क बीज मिनिकिट्स उपलब्ध करा रही है. राज्य कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने अधिकारियों को मानसून के आने से पहले किसानों के लिए खाद एवं बीज की तुरन्त व्यवस्था करने का निर्देश दिया है. इस दौरान उन्होंने सरकारी योजनाओं को लघू और सीमांत किसानों तक पहुंचाने के लिए प्रचार-प्रसार पर जोर दिया है.

पच्चीस लाख लघु एवं सीमान्त किसानों को मिलेंगे निःशुल्क बीज मिनीकिट

राज्य सरकार पच्चीस लाख लघु एवं सीमान्त किसानों को निःशुल्क बीज मिनीकिट वितरित करेगी। कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया ने बताया कि सरकार द्वारा कृषि के समग्र विकास के लिए ग्यारह मिशन प्रारम्भ किये गये हैं। इनमें सबसे महत्वपूर्ण बीज उत्पादन एवं वितरण मिशन है।

  • खरीफ वर्ष 2022 में दस लाख किसानों को संकर बाजरा बीज के मिनीकिट, जिसमें प्रति कृषक डेढ़ किलो बाजरे का पैकैट होगा।
  • दक्षिणी राजस्थान के अनुसूचित जनजाति क्षेत्र के आठ लाख कृषको को निःशुल्क संकर मक्का बीज मिनीकिट वितरित किये जायेंगे, जिसमें प्रति कृषक पांच किलो का पैकेट, जो कि 0.2 हैक्टर क्षेत्र के लिये पर्याप्त है, वितरित किये जायेंगे।
  • राज्य में दलहनी फसलों को बढ़ावा देने के लिए 2 लाख 74 हजार कृषकों को मूंग, 31 हजार कृषकों को उड़द एवं 26 हजार कृषकों को मोठ फसल के प्रति कृषक 4 किलो बीज मिनीकिट निःशुल्क उपलब्ध करवाये जा रहे हैं।
  • इसी प्रकार राज्य में सोयाबीन फसल को बढावा देने के उद्देश्य से 56 हजार किसानों को 0.1 हैक्टेयर क्षेत्र हेतु 8 किलो बीज मिनीकिट निःशुल्क उपलब्ध करवाये जायेंगे।

गुणवत्ता पर रखें विशेष ध्यान

कृषि आयुक्त कानाराम ने प्रजेन्टेशन के माध्यम से बताया कि इस खरीफ वर्ष में 164 लाख हैक्टेयर में बुआई का लक्ष्य रखा गया है. जिसके लिए 9 लाख क्विंटल बीज की जरूरत पड़ेगी जबकि सरकार के पास 9.62 लाख क्विंटल बीज उपलब्ध है. इसके अलावा राज्य में 3.92 लाख मेट्रिक टन यूरिया, 1.61 लाख मेेट्रिक टन डी.ए.पी. एवं 1.65 लाख मेट्रिक टन एस.एस.पी. का स्टॉक उपलब्ध है तथा उर्वरकों की आपूर्ति निरंतर जारी है.

कृृषि आयुक्त ने बजट वर्ष 2022-23 की घोषणा की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य में 15 हजार फार्म पौण्ड तथा 5 हजार डिग्गी निर्माण का लक्ष्य निर्धारित है. 7 हजार किलोमीटर पाईप लाईन, 6 हजार किमी तारबंदी, 30 हजार कृषकों को अनुदान पर कृृषि यंत्र का लक्ष्य निर्धारित है.

किसान यहाँ से मुफ्त में ले सकते हैं प्रमाणित बीज

Free Beej Yojana ; राजस्थान सरकार राज्य के किसानों को खरीफ फसलों के प्रमाणित उन्नत बीज निःशुल्क उपलब्ध करा रही है। जिसमें मक्का, बाजरा, उड़द, मूंग, मोठ तथा सोयाबीन आदि शामिल हैं। वर्तमान समय में फसल के लिए बीज मिनीकिट वितरण कार्य प्रारम्भ किया जा चुका है । इच्छुक किसान अपने क्षेत्र की ग्राम पंचायत स्तर पर गठित कमेटी अथवा स्थानीय कृषि कार्यकर्ता से सम्पर्क कर बीज प्राप्त कर सकते हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here