ओड़गी भाजपा मंडल अध्यक्ष ने ग्रामीणों के बीच जाकर सुनीं समस्या

घनघोर जंगलों के बीच बसा है यह गांव

ओड़गी-ब्लॉक ओड़गी ग्राम छतरंग के बनगंवा घने जंगलों के बीच प्रकृति की गोद में बसा है गांव बनगंवा। ब्लॉक मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर दूर बसे बनगंवा में आदिवासी यादव, व अन्य समाज के लोग रहते हैं। जहां विकास के नाम पर लोग मूलभूत सुविधाओं में आने वाले चीजों से कोसों दूर है तो वहीं सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली के साथ-साथ स्वच्छ पेयजल से भी लोग कोसों दूर हैं। घने जंगलों में दो पहाड़ों के बीच बहती जीवनदायिनी नदी के पानी का इस्तेमाल ग्रामीण कृषि कार्यों के लिए ही नहीं बल्कि पेयजल के रूप में भी करते हैं। वहां की महिलाएं पगडंडियों से होकर लगभग 1 किलोमीटर दूर स्थित नदी में पीने के लिए पानी घर लाती हैं। पेयजल के साथ-साथ शिक्षा की स्थिति को देखें तो स्कूल के नाम पर कुछ भी नही है वहा रह रहे ग्रामीणों का कहना है कि यहा बाहर जाकर जो पढ़ाई किया वह कर लिया लेकिन जो मुश्किल से दो वक्त की रोटी कमाता है वो अपने बच्चे को शिक्षा कहा से दे पाएगा।


मरीज को ले जाते खाट पर

घरों के परिवारों में लगभग सदस्य रहते हैं। जहां उप स्वास्थ्य केंद्र तो दूर स्वास्थ्य विभाग के कोई कर्मचारी और ना ही नर्स कभी गांव में आती हैं। ग्रामीणों ने बताया कि जब कभी कोई ज्यादा बीमार पड़ जाता है तो गांववाले उसे खटिया पर गांव से लगभग 05 किमी का जंगली रास्ता तय कर पक्की सड़क पहुंचते हैं। जहां से किसी वाहन के सहारे स्वास्थ्य केंद्र तक पहुंच पाते हैं। कभी-कभी तो रास्ते में ही बीमार दम तोड़ देते हैं।

सड़क नहीं होने से नहीं पहुंचता सरकारी अमला

नदी पर पुल नहीं होने के कारण ग्रामीणों को हमेशा परेशानी होती है। बारिश के दिनों में गांव का संपर्क पूरी तरह टूट जाता है। चारों ओर से जंगलों से गांव घिरे होने तथा सुलभ मार्ग के अभाव में सरकारी अमला यहां पर नहीं पहुंचता है।

इसकी सूचना मिलते ही जायजा लेने पहुंचे भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेश तिवारी।

ग्रामीणों ने फोन कर अपने ग्राम का हाल कुछ इसप्रकार बताया कि सुनके दंग रह गए
पहला तो आने जाने के लिए सड़क नही है नदी में पुलिया नही है और मासूम बच्चों के लिए स्कूल नही है और सरकार का मनसा है सब पढ़े सब बढे सर्व शिक्षा अभियान भी यहा धूमिल होता दिख रहा है
नन्हे बच्चे पड़ेंगे नही तो बढ़ेंगे कैसे
इस पर संज्ञान लेते हुए श्री तिवारी ने कलेक्टर को लिखित आवेदन देकर रोड,पुलिया व प्राथमिक विद्यालय बनवाने के दिशा में पहल करने की बात कही ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here