भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बैरसिया थाना के ललरिया चौकी प्रभारी ने एक व्यक्ति से 15 हजार की रिश्वत मांगी थी। जब वह रिश्वत देने पहुंचा तो चौकी प्रभारी ने चतुराई दिखाते हुए सीधे रिश्वत न लेकर अपने एक परिचित की मदद ली। लोकायुक्त की टीम ने 11 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए इन्हें रंगे हाथों धर दबोचा। इससे पहले आरोपित पीड़ित आवेदक से वह चार हजार रुपये ले चुके थे।

लोकायुक्त की कार्रवाई चौकी प्रभारी 11 हजार की रिश्‍वत लेते गिरफ्तार

लोकायुक्त पुलिस के अनुसार ग्राम डंगरौली थाना बैरसिया निवासी दरबार सिंह ने लोकायुक्त भोपाल को शिकायत करते हुए बताया था कि उसके खिलाफ थाने में मारपीट का प्रकरण दर्ज था। इसी मामले में चौकी प्रभारी सहायक उपनिरीक्षक मुकेश मीणा, आरक्षक दीपक सोनी, आरक्षक बुंदेल अहिरवार द्वारा जमानत एवं जिलाबदर न करने के बदले में 15 हजार रुपये की रिश्‍वत मांगी गई थी। इस पर पीड़ित ने लोकायुक्‍त में शिकायत कर दी।

लोकायुक्त ने रंगे हाथ चौकी प्रभारी को 11000 की रिश्वत लेते धर दबोचा

एसपी लोकायुक्त मनु व्यास ने शिकायत का सत्यापन कराने के बाद टीम का गठन किया। इससे पहले ही आरोपितों ने आवेदक से चार हजार रुपये 13 मई को ले लिए थे। इसके बाद बुधवार को तीनों आरोपित शेष रिश्वत राशि 11 हजार रुपये एक परिचित करण सिंह के माध्यम से ले रहे थे, तभी लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here