जबलपुर, कई तरह के अपराधों में लिप्त एक बदमाश द्वारा सरकारी जमीन पर किए गए कब्जे को प्रशासन और पुलिस ने मिलकर मुक्त कराया। पनागर के तहत आने वाले गांव छत्तरपुर में साढ़े चार सौ फुट सरकारी जमीन पर बदमाश ने अवैध कब्जा कर लिया था और उस पर शराब की दुकान किराये से बेखौफ होकर संचालित कर रहा था।

इस जमीन की अनुमानित कीमत पांच लाख रुपए बताई गई। पुलिस ने इस अवैध कब्जे को जमींदोज कर दिया। इसके अलावा 10 एकड़ जमीन जिसमें ईंट भट्ठा और खेती करवा रहा था, उसे भी कब्जामुक्त कराया गया। इस जमीन की कीमत एक करोड़ रुपए आंकी गई।

सरकार के निर्देशों का पालन

मध्य प्रदेश शासन द्वारा राशन की काला बाजारी, मिलावटखोरों, भू-माफियाओं, चिटफंड कंपनी के कारोबारियों एवं सूदखोरों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश प्रशासन व पुलिस विभाग को दिए गए हैं। इसी के तहत पुलिस एवं प्रशासन की संयुक्त टीम द्वारा इस प्रकार के माफियाओं की लिस्ट एवं उनके द्वारा किए गए अवैध निर्माण एवं कब्जे की जानकारी तैयार की गई है और उनके विरुद्ध लगातार कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में शुक्रवार को कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी. और पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा के मार्गदर्शन में कार्रवाई की गई।

किराये पर चलवा रहा था शराब की दुकान

मुन्नालाल उर्फ मुन्ना यादव निवासी बिछुआ टोला ग्राम छतरपुर थाना पनागर अपराधी प्रवृत्ति का रहा है। उसके विरुद्ध बलवा कर शासकीय कार्य मे व्यवधान उत्पन्न कर मारपीट, घर में घुसकर बलवा कर मारपीट और आबकारी एक्ट के चार प्रकरण दर्ज हैैं। उसने बिछुआ टोला ग्राम छत्तरपुर में सरकारी जमीनों पर कब्जा कर रखा था। इसमें अवैध तरीके से काम कराए जा रहे थे।

भारी अमले की तैनाती रही

विवाद होने की आशंका को ध्यान मे रखते हुए कार्रवाई के दौरान उप पुलिस अधीक्षक अपराध प्रभात शुक्ला, थाना प्रभारी गोसलपुर परिवीक्षाधीन (भा.पु.से.) शशांक, नायब तहसीलदार सारिका रावत, थाना प्रभारी पनागर आर.के. सोनी, थाना रांझी, अधारताल, खमरिया का बल एवं पुलिस लाइन से निरीक्षक लोकमन अहिरवार 25 बल के साथ और आर.आई. राजेश सहाय, पटवारी रश्मि शुक्ला एवं नगर पालिका पनागर का अतिक्रमण अमला मौजूद रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here