भोपाल, पेंशनर्स एसोसिएशन मध्य प्रदेश को 22 मई को नया अध्यक्ष मिलेगा। अभी श्याम जोशी इस एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं। दरअसल मध्य प्रदेश के पेंशनर कर्मचारियों के समान महंगाई राहत का लाभ नहीं मिलने से नाराज हैं। इन्होंने 22 मई को जबलपुर में अधिवेशन बुलाया है। इसमें भोपाल से भी पेंशनरों के चार अलग-अलग दल हिस्सा लेंगे। इस अधिवेशन में पेंशनर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की रणनीति भी जारी करेंगे।

लंबे समय से नाराज है पेंशनर
प्रदेशभर के पेंशनर लंबे समय से नाराज हैं। नाराजगी की वजह केंद्र व राज्य कर्मचारियों के समान महंगाई राहत का लाभ नहीं देने, समय पर वेतनमान लागू नहीं करने, देरी से लागू किए गए सातवें वेतनमान व छठवें वेतनमान की एरियर्स की राशि का भुगतान नहीं करने समेत कई लंबित मांगों को अनसुना करना है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत कई जनप्रतिनिधियों को लिख चुके हैं पत्र
मध्य प्रदेश के पेंशनर अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिख चुके हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी पत्र लिखा था। यह पत्र वरिष्ठ पेंशनर गणेश दत्त जोशी और पेंशनर्स एसोसिएशन मध्य प्रदेश के अन्य पदाधिकारियों की ओर से लिखे गए थे।

सरकार पर लगाया अनदेखी का आरोप
पेंशनरों ने सरकार कई गंभीर आरोप लगाए हैं। जिसमें कहा है कि सरकार पेंशनरों पर ध्यान नहीं दे रही हैं। असंवेदनशील रवैया अपनाया जा रहा है जिसकी वजह से पेंशनरों को बुढ़ापे में परेशान होना पड़ रहा है। महंगाई राहत बढ़ाने के लिए बार-बार छत्तीसगढ़ सरकार से अनुमति लेने की बात की जाती है, जिसकी जरूरत नहीं है। केंद्र व दूसरे राज्यों के समान पेंशनर्स से जुड़े नियमों में संशोधन नहीं किया जा रहा है। तलाकशुदा व अविवाहित बेटी को पेंशनर्स के लाभ देने संबंधी प्रावधान नहीं है और जो है भी वह बहुत कठिनाई वाले हैं जिनका लाभ ठीक से नहीं मिल रहा है। केंद्र और दूसरे राज्यों की सरकारों ने नियमों को काफी आसान बनाया है लेकिन मध्य प्रदेश सरकार बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here