सतना ओबीसी महासंघ द्वारा प्रदेश व्यापी बन्द का सतना में मिला जुला असर देखने को मिला, शहर में घूम घूम कर संस्थान बन्द कराई जा रही। वही मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी ने समर्थन करते हुए भाजपा सरकार पर हमला, कहा बाबा साहब के संविधान को नही मानना है तो फाड़कर फेंक दो, अपना संविधान बना लो।

ओबीसी महासभा द्वारा आरक्षण के मुद्दे को लेकर 21 मई को भारत बंद का आवाहन किया था। ओबीसी के बंद को समर्थन देने पहुँचे मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी ने एक बार फिर अपनी ही सरकार पर हमलावर होते हुए कहा कि एक तरफ सरकार पिछड़े वर्ग के उत्थान के लिए आयोग का गठन करती है वही दूसरी तरफ उन्हें 27% आरक्षण देने में असफल होती है।

उन्होंने कहा कि अगर सरकार बाबा साहब के संविधान को मानती है तो पिछड़ा वर्ग की मांग को पूरा करे अन्यथा उनके बनाये संविधान को फाड़ दे और अपना स्वयं का संविधान बना ले। वहीं सतना शहर में ओबीसी महासभा की दो दर्जन टोलियां अलग अलग क्षेत्र में रैलियां निकाल रही और व्यापारिक संस्थानों को बंद करा रही है,सतना

राजनैतिक दलों की सीमाएं तोड़ कर ओबीसी के लोग एक बैनर तले एकत्रित दिखे हालकि बड़े चेहरे नदारत रहे। ओबीसी आरक्षण को सैबिधानिक दर्जा देने की मांग की जा रहे और जिसके जितने संख्या भारी उतनी उसकी हिस्सेदारी के आधार पर आरक्षण की मांग की जा रही,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here