Bhopal- भोपाल  हमीदिया अस्पताल में मरीजों के खाने के लिए इल्ली लगा आटा भी 33 रुपये खरीदा जा रहा है। बाजार में अच्छी गुणवत्ता का पैक आटा अधिक से अधिक 140 रुपये में पांच किलो मिल रहा है। अस्पताल में अपेक्स ट्रेडिंग नामक फर्म से रसोई की सामग्री करीब 20 साल से खरीदी जा रही है। हर साल इसके लिए टेंडर किया जाता है, जिसमें इस फर्म का चयन हो हो रहा है।

बता दें कि हमीदिया अस्पताल में लगभग 20 दिन से मरीजों के लिए घटिया आटा से रोटियां बनाई जा रही थीं। आटे में इल्लियां मिली हैं। रसोई के कर्मचारियों ने इसकी शिकायत किचेन के प्रभारी डा. अजय धुर्वे और अस्पताल अधीक्षक डा. दीपक मरावी से की थी, लेकिन संवेदना का स्तर ऐसा कि जिम्मेदारों को कोई फर्क ही नहीं पड़ा। सिर्फ डेढ़ क्विंटल आटा लौटाया गया। खराब आटा खपाने के बाद भी आपूर्ति करने वाली फर्म पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। बता दें कि अस्पताल में हर दिन करीब 160 मरीजों के लिए रोटियां बनाई जाती हैं। एक मरीज को 200 ग्राम आटे की रोटियां दी जाती हैं।

बाहर पहरा, भीतर आटे के ऊपर बैठी थी मक्ख्यिां
आटा और गेहूं में इल्लियां मिलने के बाद हमीदिया की रसोई में सुरक्षाकर्मी पहरा दे रहे हैं। हर पाली में एक सुरक्षाकर्मी की ड्यूटी लगाई गई है। नवदुनिया ने यहां मंगलवार को जायजा लिया तो गेट पर एक सुरक्षाकर्मी बैठा था। अंदर किसी के भी जाने की मनाही थी। खिड़की से देखा तो गूंथा हुआ आटा रखा था। इस पर मक्खियां बैठी थीं।

यहां रखे गेहूं में भी निकल चुकी हैं इल्लियां
यहां रखा गेहूं भी सड़ गया था। इसे तीन दिन पहले कर्मचारियों ने जब फर्श पर गिराया तो बड़ी संख्या में इल्लियां इससे निकलने लगीं। रसोई में काम करने वाले कर्मचारियों ने खुद इसका वीडियो बनाकर अधिकारियों को भेजा, लेकिन जिम्मेदारों पर कोई असर ही नहीं हुआ। उल्टा शिकायत करने वाले कर्मचारियों को ही फटकार पड़ गई।

खराब आटा वापस कर दिया गया है। टेंडर प्रक्रिया के तहत आपूर्ति करने वाली फर्म का चयन किया जाता है। इसमें जो फर्म सबसे कम दर में आपूर्ति करने को तैयार होती है उसे काम दिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here