Mp News: कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य प्रकोष्ठ के कार्यक्रम को संबोधित किया। कमलनाथ ने बताया कि कोरोना के संकट के समय शिवराज सिंह चौहान ने उनको कॉल करके मदद मांगी थी और उन्होंने प्रदेश के लिए ऑक्सीजन के टैंकर मंगवाए थे। शिवराज के खास माने जाने वाले चिरायु अस्पताल के एमडी डॉ. अजय गोयनका ने भी कमनाथ की कार्यक्रम में तारीफ की।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि कोविड के समय मेरा विधानसभा में मजाक उड़ाया गया था। जब मैंने कहा था कि कोरोना सामने है। मैं इंटरनेशनल अखबार और जर्नल पढ़ता था। उसमें कोविड की भयंकर समस्या सामने आने के बारे में बताया गया। जब मैंने कहा कि कोविड की तैयारी करनी है तो कहा गया कि कोरोना नहीं यह तो कमलनाथ का डरोना है। मैं जानता था कि क्या होने वाला था।

कमलनाथ ने कहा कि मैं मार्च अप्रैल 2020 को छिंदवाड़ा में था। हमने सरकारी डॉक्टरों और अधिकारियों के साथ मीटिंग की। कोविड शुरू हुआ था मैंने पूछा कि आपको किसी चीज की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की कमी हो सकती है। और एक इंजेक्शन का नाम लिया रेमडेसिवर नाम लिया। मैंने कहा कि इसको बनाता कौन है। उन्होंने बताया कि सन फॉर्मा बनाता है। मैंने सन फॉर्मा के चेयरमैन को फोन किया। हमने छिंदवाड़ा में ऑक्सीजन और इंजेक्शन की कमी नहीं होने दी।

उन्होंने कहा कि जब टैंकर्स की कमी आई तो मुझे मुख्यमंत्री शिवराज जी ने फोन किया कि ऑक्सीजन की बहुत कमी हो रही है। टैंकर नहीं मिल रहे। मैंने पूछा टैंकर बनाता कौन है? उन्होंने मैं अपने प्रिंसिपल सेक्रेटरी से कहता हूं वो आपसे बात करेंगे। उनके पीएस का फोन आया। बताया कि फलां कंपनी टैंकर बनाती हैं। मैने स्टाफ से चेक कराकर उस कंपनी के चेयरमैन को फोन किया। उन्होंने ऐसे बात करनी शुरू कि जैसे मेरे दोस्त हो। मैंने उनसे कहा कि हमें टैंकर्स चाहिए। उन्होंने कहा कि टैंकर तो सारे अलॉट हो गए हैं। मैंने कहा अभी आज ही डायवर्ट करिए। तब टैंकर मध्य प्रदेश पहुंचे और राहत मिली। डॉ. अजय गोयनका ने कहा कि कमलनाथ के नेतृत्व में ही कोरोना का इलाज का काम शुरू किया गया था। उन्होंने कमलनाथ के उस दिन के विजन को धन्यवाद भी दिया।

पूर्व सीएम ने एलॉपैथी, आयुष, नर्स, डेंटल, पैरामेडिकल, स्वास्थ्य कर्मी सेवकों को संबोधित करते हुए कहा कि डॉक्टरर्स का अपना एक प्रोफेशन होता है, वह समाज का सेवक भी होता है और प्रोफेशन से समाज सेवा जुड़ी होती है। आपको अपना प्रोफेशन चलाना है, पर अपने सामाजिक मूल्यों की रक्षा भी आपको करना है। आप प्रोफेशन के माध्यम से सामाजिक मूल्यों से जुडे़। आज की बहुत बड़ी आवश्यकता है अपना दृष्टिकोण बदलें। डॉ. एक व्यक्ति ही नहीं पूरे समाज का रक्षक होता है, आप समाज के रक्षक बने संविधान के रक्षक बने और सामाजिक मूल्यों के रक्षक बने।

नाथ ने कहा कि आज हमारे संविधान को कुचलने का प्रयास किया जा रहा है, लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, आप लोगों ने कोविड के दौरान अपनी सेवाएं देकर जिस तरह मानवता का परिचय दिया है, उसी तरह सामाजिक मूल्यों और संविधान की रक्षा के लिए लोकतंत्र का सम्मान करें। ऐसा कोई व्यक्ति नहीं जो आप से अछूता रहा हो, उन्हें देश और प्रदेश की वर्तमान तस्वीर बतायें कि कैसे लोगों को गुमराह किया जा रहा है, कैसे उनके भविष्य से खेला जा रहा है।

नाथ ने कहा कि आज का युवा भटक रहा है, यदि नौजवानों का भविष्य अंधकार में रहेगा तो प्रदेश का नवनिर्माण कैसे होगा? यह सबसे बड़ी चुनौती हम सबके सामने है। हमें प्रदेश की इस भ्रष्टाचारी, झूठ फरेब और दिखावे की तस्वीर को बदलकर नई पहचान बनाना होगी और इसके लिए आप सब सच्चाई का साथ दें। क्योंकि भारत की संस्कृति जोड़ने की संस्कृति है हम दिल जोड़ते हैं, रिश्ते जोड़ते हैं, संबंध जोड़त हैं और यही कांग्रेस की संस्कृति है। आज समाज को बांटने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आप सब रक्षक है संविधान के देश की संस्कृति के और आपको रक्षक बनकर ही रहना है।

मप्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि एलॉपैथी, आयुष, नर्स, डेंटल, पैरामेडिकल, स्वास्थ्य कर्मी सेवकों की बात सुनी जाये और उनकी समस्याओं का हल किया जाये इसके लिए श्री कमलनाथ जी कांग्रेस का स्वास्थ्य एवं चिकित्सा प्रकोष्ठ का गठन किया है। आपकी समस्याआंे का समाधान किया जायेगा। आप सबकी जिम्मेदारी बनती है कि आप कांग्रेस से लोगों को जोड़ें, ताकि प्रदेश में कांग्रेस का झंडा विधानसभा में फहराये।

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here