Jabalpur News : जबलपुर के मेखला रिसोर्ट के कमरे में युवती की हत्या करने वाले प्रेमी युवक दस दिन बाद राजस्थान पुलिस के हत्थे चढ़ा था। दो दिन की पुलिस रिमांड समाप्त होने के बाद तिलवार पुलिस ने सोमवार को उसे न्यायालय के समक्ष पेश किया। इधर कोतवाली पुलिस ने साढ़े आठ लाख की धोखाधड़ी के मामले में पांच दिन का रिमांड मांगा, जिसे कोर्ट ने मंजूर कर दिया है।

गौरतलब है कि बरगी थानांतर्गत मेखला रिसार्ट में 8 नवंबर की दोपहर को कमरे में एक युवती की रक्त रंजित लाश मिली थी। मृतका की शिनाख्त कुंडम निवासी शिल्पी झारिया (21) के रूप में हुई थी। जांच में पता चला कि युवती और प्रेमी ने फर्जी आईडी से 6 नवंबर को रिसॉर्ट में रूम लिया था। युवक ने रिसॉर्ट में अभिजीत पाटीदार के नाम का आधार कार्ड पहचान पत्र के रूप में दिया था। इस दौरान मृतका के इंस्टाग्राम से युवक ने घटना के बाद का वीडियो भी वायरल किया था। इसके अलावा अन्य वीडियो व फोटो भी वायरल किए थे।

बता दें कि आरोपी युवक को राजस्थान पुलिस ने 18 नवंबर को गिरफ्तार कर लिया था। तिलवारा पुलिस को आरोपी का दो दिन का रिमांड मिला था। जिसकी अवधि समाप्त होने पर सोमवार को पुलिस ने आरोपी युवक को न्यायालय में पेश किया। आरोपी युवक ने कोतवाली थानांतर्गत शक्कर व तेल व्यापारी के साथ आठ लाख रुपये की धोखाधड़ी की थी। कोतवाली पुलिस ने आरोपी की रिमांड के लिए न्यायालय के समक्ष आवेदन पेश किया था। न्यायालय ने 26 नवंबर तक युवक की रिमांड कोतवाली पुलिस को प्रदान की है।

 

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here