भगवान राम के आदर्शों को जीवन में आत्म सात करने से होगी राम राज्य की स्थापना-राज्य मंत्री

सीधी 21 नवम्बर 2020
प्रदेश के पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार), विमुक्त घुमक्कड़ जनजाति कल्याण (स्वतंत्र प्रभार), पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री रामखेलावन पटेल ने कहा कि देश में सच्चे अर्थों में राम राज्य की स्थापना भगवान राम के आदर्शों को जीवन में आत्मसात करने से होगी। भगवान राम ने अपने जीवन के माध्यम से समाज में आदर्श मूल्यों की स्थापना की है। उन मूल्यों एवं आदर्शों को अपने जीवन में अपनाने की आवश्यकता है। राज्य मंत्री श्री पटेल सोनांचल महोत्सव में आयोजित विचार गोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। राज्य मंत्री श्री पटेल ने कहा कि 500 वर्षों की लंबे प्रतीक्षा के बाद 22 अगस्त 2020 को प्रधामंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का भूमिपूजन किया गया। यह एक ऐतिहासिक क्षण था। उन्होने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण से निश्चित रूप से देश के युवाओं को भगवान राम के जीवन से शिक्षा प्राप्त होगी और एक आदर्श समाज की स्थापना होगी। गोष्ठी के प्रमुख वक्ता श्री अम्बरीश द्वारा भगवान राम के राजा राम से भगवान राम बनने की यात्रा को सविस्तार बताया गया। इसके साथ ही प्रमुख उद्धरणों के माध्यम से उनके द्वारा स्थापित आदर्शों का वर्णन किया गया। उन्होने कहा कि भगवान राम का पूरा जीवन हमें सामाजिक मूल्यों के विषय में बताता है जिसको अपनाकर एक समतायुक्त समाज की स्थापना होगी। कार्यक्रम में विधायक चुरहट श्री शरदेन्दु तिवारी तथा विधायक धौहनी श्री कुंवर सिंह टेकाम द्वारा अपने विचार व्यक्त किए गए। उन्होने कहा कि सोनांचल महोत्सव जिले की लोक संस्कृति को मंच देने का कार्य कर रही है। यह एक अच्छी पहल है तथा भविष्य में इसके संचालन के लिए प्रयास किए जायेंगे। कार्यक्रम में आयोजक श्री इंद्रशरण सिंह चैहान, जिला पंचायत सीधी के प्रधान श्री अभ्युदय सिंह, विन्ध्य विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष श्री सुभाष सिंह, डाॅ. राजेश मिश्रा सहित प्रबुद्ध वक्ता, गणमान्य नागरिक उपस्थित रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here