बलिया से अनिल सिंह

बलिया – बैरिया थाना क्षेत्र के दुबे छपरा ढाले पर शुक्रवार की भोर में काल बनकर दौड़ी पिकअप की जद में आने से एक की मौके पर मौत हो गई। तो दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। आनन-फानन में मौके पर पहुंचे आसपास के लोगों ने घायलों को जिला अस्पताल भिजवाया। जहां पर एक की स्थिति गंभीर होने के कारण वाराणसी रेफर कर दिया गया।



बता दें कि करीब 3 साल पहले गंगा के कटान से बेघर होकर ग्राम सभा गोपालपुर के उदई छपरा के सैकड़ों कटान पीड़ित राष्ट्रीय राजमार्ग 31 पर शरण लिए हुए हैं। लाख गुहार के बाद भी इन पीड़ितों को जमीन क्रय कर आज तक नहीं बसाया गया। शुक्रवार की भोर में करीब 4:00 बजे के आसपास बलिया के तरफ से आम लेकर आ रही पिकअप असंतुलित होकर कटान पीड़ितों की झोपड़ी में जा घुसी। जिसके कारण उदई छपरा निवासी कटान पीड़ित लाल जी चौधरी उम्र 50 वर्ष पुत्र स्वर्गीय हीरा चौधरी की मौके पर मौत हो गई। वही पिकअप के चपेट में आए मनीष कुमार चौधरी उम्र 18 वर्ष पुत्र नकुल चौधरी मोहित चौधरी उम्र 13 वर्ष पुत्र शरवन चौधरी भी पिकअप की जद में आ गए जिसके चलते गंभीर रूप से घायल हो गए ।

आस पास के सभी कटान पीड़ितों ने सभी घायलों को जिला अस्पताल भिजवाने के साथ ही मरे हुए लाल जी चौधरी के शव को राष्ट्रीय राजमार्ग दुबे छपरा ढाले पर रखकर जाम कर दिया। घटना की सूचना पर पहुंचे उप जिलाधिकारी बैरिया आत्रेय मिश्रा, सीओ बैरिया अशोक मिश्रा , थानाध्यक्ष बैरिया धर्मवीर सिंह , कांग्रेस नेता विनोद सिंह ने पीड़ितों को समझा-बुझाकर किसी तरह 2 घंटे के बाद जाम हटवाया। उप जिलाधिकारी बैरिया ने पीड़ितों को लिखित आश्वासन दिया की 4 सप्ताह के अंदर सभी पीड़ितों को जमीन उपलब्ध कराकर बसा दिया जाएगा। शासन की मंशा के अनुरूप मिलने वाले हर सहायता राशि को 4 सप्ताह के अंदर पीड़ितों को उपलब्ध करा दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here